PM मोदी के भाई ने खोला केंद्र के खिलाफ मोर्चा, बोले- ऐसे तो यूपी-बिहार में हारेगी BJP

PM मोदी के भाई ने खोला केंद्र के खिलाफ मोर्चा, बोले- ऐसे तो यूपी-बिहार में हारेगी BJP

0 193
मुंबई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के छोटे भाई प्रह्लाद मोदी ने मुंबई के आजाद मैदान में केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया। ऑल-इंडिया फेयर प्राइस शॉप डीलर्स फेडरेशन के नेशनल वाइस-प्रेसिडेंट प्रह्लाद मोदी ने न केवल केंद्र में मोदी सरकार के खिलाफ विरोध में हिस्सा लिया बल्कि अपने 45 मिनट के भाषण में सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ”यदि फेडरेशन की मांगें नहीं मानी गईं तो बीजेपी को बिहार और उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में हार का सामना करना पड़ेगा।” फेडरेशन की मांगों में राशन डिस्ट्रब्यूटर्स का कमीशन बढ़ाने की मांग भी शामिल है।
‘दिल्ली में बीजेपी के खिलाफ फेडरेशन के सदस्यों ने किया काम’
उन्होंने दावा किया, ”यूपी में जहां 80 में से 73 सीटें बीजेपी को मिलीं वहां पर 75000 राशन डिस्ट्रिब्यूटर्स ने बीजेपी के लिए काम किया। लेकिन दिल्ली में फेडरेशन के सदस्यों ने बीजेपी के खिलाफ काम किया और नतीजा सबके सामने है। यदि केंद्र सरकार हमारी मांगें नहीं मानती है तो बीजेपी को बिहार और उत्तर प्रदेश में भी हार का सामना करना पड़ेगा।”
सरकार के एक वर्ग के अधिकारियों के संबंध में पीएम के भाई ने कहा, ”वो बड़े चोर हैं और हम छोटे चोर हैं। हमारी चोरी के लिए सरकार की नीतियां जिम्मेदार है।” प्रह्लाद मोदी इस विरोध प्रदर्शन के दौरान लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र रहे।
पीएम नहीं, सिस्टम के खिलाफ लड़ाई है
भाषण के दौरान प्रह्लाद मोदी पीएम नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला करने से बचते रहे। उन्होंने यह स्पष्ट करने की कोशिश की कि उनकी लड़ाई नीति और सिस्टम के खिलाफ है। उन्होंने कहा, ”मैं उनका सम्मान करता हूं। मेरी लड़ाई उनके खिलाफ नहीं है, सिस्टम के खिलाफ है। मीडिया हमारे बीच विवद पैदा करने की कोशिश कर रहा है।”
इस बीच विरोध-प्रदर्शन के दौरान फेडरेशन के कुछ सदस्यों ने जब खाद्य व उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान के इस्तीफे की मांग की तो पीएम के भाई ने अपने बयान में कहा, ”हम ये नहीं चाहते कि पासवान इस्तीफा दें, मैं इस बात पर सहमत नहीं हूं। यदि वह इस्तीफा देंगे तो कोई और मंत्री बनेगा। हमारी लड़ाई किसी व्यक्ति विशेष के खिलाफ नहीं बल्कि सिस्टम के खिलाफ है। ”
यूपीए की नीतियों पर साधा निशाना
केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में पीएम के भाई पिछली यूपीए की सरकार के खिलाफ बोले। उन्होंने कहा कि फूड सिक्युरिटी बिल को बिना किसी सर्वेक्षण के लागू करने की कोशिश की गई। बीजेपी सरकार को बिल पर बने रहना चाहिए लेकिन इसे लागू करने के पहले सर्वेक्षण करना चाहिए। राइट्स ऑफ राशन डिस्ट्रिब्यूटर्स की रक्षा की जानी चाहिए।