Monday, November 12, 2018
Featured
Featured posts

0 252

मुंबई।

महेश भट्ट की बेटी और फिल्म निर्माता पूजा भट्ट ने ट्विटर पर ऐलान कर दिया है कि वो अपने पति मुनीष मुखीजा से अलग हो रही हैं। पूजा ने ट्वीट किया, ‘जो लोग केयर करते हैं और खासतौर पर जो केयर नहीं करते हैं, उन्हें बता रही हूं कि मेरे पति मुन्ना और मैंने 11 शानदार सालों तक चली शादी के बाद अलग होने का फैसला कर लिया है।’

पूजा और मुनीष 2004 में पूजा की पहली निर्देशित फिल्म ‘पाप’ की शूटिंग के दौरान करीब आए थे। मुनीष पेशे से वीजे हैं और मुंबई में एक रेस्त्रां के मालिक हैं। उन्हें चैनल वी के शो ‘द उधम सिंह शो’ से शोहरत मिली थी। इसके बाद वो यूटीवी बिंदास के शो ‘कैश कैब – मीटर चालू है’ में भी नज़र आए थे।

पूजा भट्ट ने दूसरे ट्वीट में कहा, ‘हम आपसी सहमति से अलग हो रहे हैं और एक-दूसरे का बहुत सम्मान करते हैं और हमेशा करते रहेंगे।’

पूजा ने ये भी बताया कि उन्होंने ट्विटर के जरिए ये जानकारी क्यों दी है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘इसका कारण ये है कि हम दोनों पब्लिक डोमेन पर हैं। हमारे दोस्त, शुभचिंतकों और दुश्मन अटकलें लगा सकते हैं।’

0 207

-40 करोड़ रुपये की लागत से 132/33 केवी के सबस्टेशन बनेंगे
लखनऊ।
राज्य सरकार ने प्रदेश के नौ धार्मिक स्थलों पर दर्शनार्थियों के लिए 24 घंटे विद्युत आपूर्ति करने का निर्णय लिया है। यह सुविधा सिर्फ उन धार्मिक स्थलों पर होगी।
प्रदेश में विभिन्न धर्मों के अनुयायी अपने आराध्य की पूजा और दर्शन के लिए पूरी दुनिया के देशों से आते रहते हैं। इन दर्शनार्थियों जिनमें जैन, मुस्लिम, हिन्दू, सिख तथा बौद्ध धर्म के अनुयायी शामिल हैं, उनके विश्व प्रसिद्ध पूजा स्थल अधिकतर उत्तर प्रदेश में ही हैं।
सरकार ने इन दर्शनार्थियों  की सुविधा के लिए प्रदेश में 09 स्थानों दरगाह नजीबाबाद, हस्तिनापुर, पंचप्यारे (मेरठ),देवाशरीफ,श्रावस्ती, मथुरा, वृन्दावन एवं सारनाथ (वाराणसी) तथा दरगाह किछौछा (अम्बेडकरनगर) में अवस्थापना निधि से लगभग 40 करोड़ की लागत से इन स्थानों पर 132केवी सबस्टेशन से 33केवी की स्वतंत्र लाइनों एवं 33/0.4 केवी सबस्टेशनों का निर्माण कराने निर्णय लिया है  जिससे इन स्थानों पर 24 घण्टे विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित हो सकेगी। 24 घण्टे की विद्युत आपूर्ति मात्र इन स्थलों पर स्थापित धर्मस्थल विशेष के लिए है, न कि सम्पूर्ण स्थान अथवा जनपद के लिए।

0 235

-अयोध्या मामले पर पीएम से जो मिलना चाहेगा उसका स्वागत
लखनऊ।
सांसद आदर्श गांव योजना के तहत लखनऊ के सरोजनी नगर स्थित बेंती गांव को गोद लेने के बाद केंद्रीय गृहमंत्री व लखनऊ से सांसद राजनाथ सिंह शनिवार सुबह पहली बार यहां पहुंचे। राजनाथ के इंतजार में गांव को सजा दिया गया और वहां पहले बैंक की स्थापना भी हो गई। राजनाथ ने पहुंचते ही सबसे पहले ओरिएंटल बैंक ऑफ  कॉमर्स की नई शाखा का उद्घाटन किया। गृहमंत्री राजनाथ सिंह  ने कहा है कि हाफिज सईद या कोई और भारत का कुछ नहीं बिगाड़ सकते हैं। दुनिया की कोई ताकत भारत को मिटा नहीं सकती है।

अयोध्या मसले पर उनका कहना था कि प्रधानमंत्री से जो भी मिलना चाहेगा उसका स्वागत है।  गौरतलब है कि पाकिस्तान लाहौर में मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद ने एक बड़ी रैली कर भारत के खिलाफ खुलेआम जहर उगला है। उसने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चेतावनी दी कि कश्मीर मसला तत्काल हल करें, वरना भारत के खिलाफ  जिहाद छेड़ा जाएगा।

गांव के प्रशिद्ध शिव मंदिर में की पूजा
लोगों से बात करने के बाद उन्होंने वृक्षारोपण किया और गांव में ही स्थित शिव मंदिर में पूजा के लिए चले गए। इसके बाद वे प्राथमिक विद्यालय के लिए रवाना हो गए। केंद्रीय गृहमंत्री द्वारा गांव को गोद लिए जाने से ग्रामीण बहुत उत्साहित दिखे घने कोहरे में भी सुबह से जुटे ग्रामीण राजनाथ से मिलकर अपनी समस्याओं को भी बताया। गांव में मूलभूत सुविधाओं की काफी कमी है। प्रधान के घर को जाने वाले रास्त को छोडक़र गांव में कहीं भी पक्की सडक़ नहीं है। साथ ही नालियों के कच्चे होने के कारण पानी का आवागमन भी सही नहीं है। गांव में अस्पताल और स्कूल की सुविधा नहीं है। गैस सिलेंडर लाने के लिए लोगों को काफी दूर जाना पड़ता। गांव में 10 मजरे हैं। साथ ही यहां ब्राह्मणों की संख्या ज्यादा है।
गौरतलब है कि बेंती गांव वैसे तो लखनऊ-कानपुर रोड से थोड़ी दूर पर ही स्थित है लेकिन पिछड़ा माना जाता है। गांव में ज्यादातर आबादी पिछड़ी जातियों की व दलितों की है। यह गांव मोहनलालगंज संसदीय क्षेत्र का हिस्सा है, पर राजनाथ का पूरा संसदीय क्षेत्र नगर निगम सीमा में आने के कारण उन्होंने मोहनलालगंज के गांव को गोद लिया है। पूर्व जिला महामंत्री राजकुमार सिंह चौहान, जिला कोषाध्यक्ष भुवनेंद्र प्रताप सिंह ‘मुन्ना’ व किसान मोर्चा के जिला महामंत्री अमित तिवारी ने गृह मंत्री का आभार व्यक्त किया।

लखनऊ।
उत्तर प्रदेश सरकार पर शहरों में भी लोगों को आवास देने को विकास कार्य में वरीयता पर रखने की योजना तैयार कर चुकी है। समाजवादी शहर आवासीय योजना को आज मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक को मंजूरी प्रदान की गई। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के पयर्टन उद्योग को गति देने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार विश्व बैंक से कर्ज लेने की तैयारी में है।
लोहिया ग्राम आवास योजना की तर्ज पर उत्तर प्रदेश सरकार अब शहरों में भी लोगों को आवास उपलब्ध कराएगी। पहले चरण में इसके तहत तीन लाख घरों का निर्माण होगा। इनका निर्माण आवास विकास परिषद के साथ ही जिले के विकास प्राधिकरण कराएंगे। इसके लिए शहरों में लंबे समय से खाली पड़ी जमीनों का प्रयोग किया जाएगा। इसके साथ ही आवास की एक अन्य योजना के तहत सरकार तीन चरणों में शहरी आवास में इजाफा करेगी। इस नई योजना के तहत राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, महानगर तथा छोटे शहरों में आवास विकसित करे जाएंगे।
सरकार ने इसके लिए दर भी निर्धारित कर दी है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में तीन कमरों के मकान की दर 3000 रुपये प्रति स्कवायर फिट है। महानगरों में 2800 तथा छोटे शहरों में 2500 प्रति स्कवायर फिट की दर से मकान देने की योजना है। इसके लिए सरकार ने प्राइवेट बिल्डर को भी ऑफर दिया है लेकिन दरों में कोई भी परिवर्तन नहीं होगा। लोगों को आवास समय से मिलें, इसके लिए भी सरकार ने करार किया है। योजना विलंबित होने के बाद भी इसी निर्धारित दर पर लोगों को मकान मिलेंगे।
खाली पड़ी जमीनों के उपयोग की बाबत सरकार किसी भी शहर में कोई जमीन खाली नहीं छूटने देगी। जमीन मालिकों से उसके ऊपर निर्माण कराने का करार होगा। इसका 55 प्रतिशत लाभ जमीन के मालिक को होगा, 25 प्रतिशत जमीन पर सरकार का हक होगा तथा 20 प्रतिशत डेवलपर पर होगा। आवास बंधु को इसमें मदद के लिए लगाया गया है। आवास बंधु सिंगिल विंडो सिस्टम के तहत डेवलपर या बिल्डर की हर स्तर पर मदद करेगा।
इसके साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार अब पयर्टन पर भी अधिक जोर देने जा रही है। सरकार विश्व बैंक से कर्ज लेकर आगरा, वाराणसी तथा कुशीनगर के पयर्टन स्थल का विकास करेगी। इसके तहत इन तीनों केंद्र को मॉडल केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा। इन केंद्रों से मिले धन से ही विश्व बैंक के कर्ज की भरपाई होगी।

लखनऊ।
सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को कहा कि हम प्रदेश को आगे बढ़ाना चाहते। जब प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और बड़ी संख्या में केन्द्रीय मंत्री यहीं से हैं तो इसका तो लाभ लेना ही पड़ेगा। उन्होंने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ दिल्ली में होने जा रही मुख्यमंत्रियों की बैठक में राज्य के विकास के लिए अपना पक्ष मजबूती से रखेंगे मुख्यमंत्री ने यहां मंत्रिपरिषद की बैठक के बाद कहा प्रधानमंत्री से देश के सभी मुख्यमंत्री मिलने जा रहे हैं।

उस बैठक का एजेंडा आ चुका है, उसके तहत हम अपना पक्ष रखेंगे। उन्होंने बैठक में उठाए जाने वाले मुद्दों को तो नहीं बताया लेकिन इतना जरूर कहा ‘‘क्या आप नहीं जानते कि हम प्रदेश को आगे बढ़ाना चाहेंगे। जब प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और बड़ी संख्या में केन्द्रीय मंत्री यहीं से हैं तो इसका तो लाभ लेना ही पड़ेगा। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी की देश के विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ कल बैठक होनी है।
सरकार भी यादव सिंह पर कार्रवाई करेगी
उत्तर प्रदेश में अरबों रुपए के घोटाले के आरोपी नोएडा के मुख्य अभियंता यादव सिंह के खिलाफ सरकार द्वारा अब तक कोई कार्रवाई नहीं होने के सवाल पर अखिलेश ने कहा मैंने आपसे कहा कि जो संस्थाएं कार्रवाई कर रही हैं वे बड़ी हैं। जब जानकारी आ जाएगी तो सरकार भी उस पर कार्रवाई करेगी।

0 226
एंड्रॉइड लॉलीपॉप जिसे गूगल का अब तक का सबसे बेहतर ऑपरेटिंग सिस्टम माना जा रहा था उसमें दिक्कतें आने लगी हैं। खबरों के मुताबिक बहुत से गूगल नेक्सस 5 यूजर्स जिन्होंने अपने डिवाइस में एंड्रॉइड लॉलीपॉप 5.0 अपडेट किया है उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
गूगल नेक्सस 5 में एंड्रॉइड 5.0 अपडेट के बाद यूजर्स को सॉफ्टवेयर बग्स, SMS इशू, कनेक्टिविटी से संबंधित समस्याएं और बैटरी बैकअप की समस्या आने लगी है। यूजर्स की ये शिकायतें ऑनलाइन फोरम और सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर पोस्ट की हैं। नेक्सस 5 के लिए शिकयत करने वाले यूजर्स की लिस्ट काफी लंबी है।
गौरतलब है कि गूगल का नेक्सस 6 इसी ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ दिसंबर के दूसरे हफ्ते में भारतीय मार्केट में बिक्री के लिए आ सकता है। इसके प्री ऑर्डर नवंबर से ही शुरू हो गए थे। नेक्सस 5 में एंड्रॉइड लॉलीपॉप अपडेशन से आ रही समस्याओं के कारण नेक्सस 6 के मार्केट पर असर पड़ सकता है।

0 193

मुंबई।

ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में अगले साल होने वाले विश्व कप के लिये बीसीसीआई ने 30 संभावित खिलाड़ियों का चयन कर लिया है। संदीप पाटिल की अगुवाई वाली पांच सदस्यीय चयन समिति की बैठक में आज विश्व कप के लिये टीम इंडिया के लिये 30 संभावित खिलाड़ियों को चुना।

30 संभावित खिलाड़ी :

कप्तान महेंद्र सिंह धौनी, शिखर धवन, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, रॉबिन उथप्पा, विराट कोहली, सुरेश रैना, अंबति रायुडू, केदार जाधव, मनोज तिवारी, मनीष पांडे, रिद्धिमान साहा, संजू सैमसन, आर.अश्विन, परवेज़ रसूल, कर्ण शर्मा, अमित शर्मा, रवींद्र जडेजा, अक्षर पटेल, इशांत शर्मा, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, वरुण एरन, धवल कुलकर्णी, स्टुअर्ट बिन्नी, मोहित शर्मा, अशोक डिंडा. कुलदीप यादव और मुरली विजय।

जबकि विश्व कप 2011 विजेता रही टीम के सदस्य युवराज सिंह, वीरेंद्र सहवाग, गौतम गंभीर, हरभजन सिंह और आशीष नेहरा फिलहाल खराब फॉर्म में चल रहे हैं जिस वजह से इनको टीम में जगह नहीं मिली।

विश्व कप 2011 में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट रहे युवराज हाल ही में बल्ले से अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके हैं लिहाजा उन्हें चयनकर्ताओं ने टीम में शामिल नहीं किया। युवराज ने विजय हजारे ट्रॉफी में सिर्फ एक अर्धशतक जमाया और देवधर ट्रॉफी में उत्तरी क्षेत्र के लिये खेली एक पारी में नाकाम रहे।

चयनकर्ता सात जनवरी को अंतिम टीम का चयन करेंगे जिसे 14 फरवरी से 29 मार्च तक होने वाले विश्व कप के लिये आईसीसी को भेजा जायेगा।

0 223

बॉलीवुड की दबंग गर्ल सोनाक्षी सिन्हा का कहना है कि दर्शकों का मनोरंजन करना काफी कठिन काम है। वर्ष 2010 में प्रदर्शित फिल्म ‘दबंग’ से अपने करियर की शुरुआत करने वाली सोनाक्षी सिन्हा पर अकसर आरोप लगते हैं कि कमर्शियल फिल्मों में महज शो-पीस की तरह होती है।

इन फिल्मों में सिवाय चार गानों और चंद सीन के अतिरिक्त हीरोइन के खाते में कुछ भी नहीं आता है। भले ही वे हिट फिल्में दे रही हों लेकिन अभिनेत्री के रूप में उनका विकास नहीं हो रहा है।

सोनाक्षी कुछ हद तक इस बात से सहमत है। हालांकि उनका कहना है कि ये बात गलत है कि कमर्शियल फिल्में करना आसान बात है। दर्शकों का मनोरंजन करना वे बेहद कठिन मानती हैं। सोनाक्षी का कहना है कि फिल्म इंडस्ट्री में पैर जमाने के लिए कमर्शियल फिल्मों का हिस्सा बनना भी जरूरी है तभी वे अपने मन मुताबिक काम कर पाएंगी।

सोनाक्षी ने फिल्म ‘लुटेरा’ में काम किया था जो लीक से हटकर थी लेकिन फिल्म फ्लॉप रही। सोनाक्षी को हालांकि इस बात का संतोष जरूर रहा कि लुटेरा एक ऐसी फिल्म है जिस पर वे वर्षों बाद भी गर्व कर सकेंगी।

0 217
मुंबई।

शेयर बाजार में शुक्रवार को बढ़त देखने को मिल रही है। सेंसेक्स 88 और निफ्टी 15 अंकों की बढ़त के साथ कारोबार कर रहे हैं। लेकिन दिग्गज शेयरों के मुकाबले मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में ज्यादा खरीदारी नजर आ रही है। वहीं मेटल, ऑयल एंड गैस और कैपिटल गुड्स शेयरों में खरीदारी से बाजार को सहारा मिला है। हालांकि आईटी शेयरों में मामूली बिकवाली नजर आ रही है।

फिलहाल बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 88.93 अंक यानि 0.31 फीसदी की बढ़त के साथ 28651.75 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। वहीं एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 15.15 अंक यानि 0.18 फीसदी चढ़कर 8579.55 के स्तर पर कारोबार कर रहा है।

बाजार में कारोबार के इस दौरान दिग्गज शेयरों में भारती एयरटेल में 1.5 फीसदी, गेल 1.5 फीसदी, कोटक महिंद्रा बैंक 1.1 फीसदी, सेसा स्टरलाइट 1 फीसदी, एनएमडीसी 0.9 फीसदी, बीएचईएल 0.9 फीसदी और कोल इंडिया 0.9 फीसदी तक उछले हैं।

हालांकि दिग्गज शेयरों में विप्रो 0.8 फीसदी, केर्न इंडिया 0.75 फीसदी, एचयूएल 0.8 फीसदी, सिप्ला 0.6 फीसदी, टाटा मोटर्स 0.7 फीसदी और टाटा पावर 0.3 फीसदी तक गिरे हैं।

मिडकैप शेयरों में पिपावाव डिफेंस 8.1 फीसदी, अतुल 6.2 फीसदी, एनबीसीसी 3.1 फीसदी, एबीजी शिपयार्ड 3.1 फीसदी और अजंता फार्मा 2.7 फीसदी तक चढ़े हैं।

स्मॉलकैप शेयरों में मैंगलोर केमिकल्स 12 फीसदी, एसक्यूएस इंडिया 10.6 फीसदी, सारदा एनर्जी 9.4 फीसदी, आर सिस्टम्स 7.8 फीसदी और वारेन टी 7.7 फीसदी तक उछले हैं।

0 209

नई दिल्ली।

सुप्रीम कोर्ट से सहारा ग्रुप को मिली घरेलू संपत्ति बेचने की इजाजत के बाद आज सहारा समूह ने गुड़गांव में 185 एकड़ जमीन एम3एम इंडिया को 1211 करोड़ रूपये में बेच दी। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को सहारा समूह को 2710 करोड़ रुपये की चार घरेलू संपत्तियां बेचने की अनुमति दी थी।

मंगलवाल को सहारा ग्रुप ने अपने प्रमुख सुब्रत राय की रिहाई के लिए सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई थी। कंपनी ने रिहाई की रकम का इंतजाम करने के लिए लंदन व न्यूयार्क के तीनों होटलों के लिए जूनियर लोन लेने की भी इजाजत मांगी थी। इसे कोर्ट ने सेबी द्वारा एस्क्रू करार देखे जाने तक टाल दिया था।

Free Arcade Games by Critic.net