Friday, October 19, 2018
भारत

0 398

पटना। राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटे इस बार चुनावी मैदान में होंगे। लालू ने अपने दोनों बेटों को बिहार चुनाव के दंगल में उतार दिया है। लालू ने सबसे ज्यादा ४८ यादव उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा है।

लालू ने तेज प्रताप और तेजस्वी यादव दोनों बेटों को चुनावी मैदान में उतार दिया है। तेज प्रताप महुआ से चुनाव लड़ेंगे और तेजस्वी राघोपुर से चुनाव लड़ेंगे। मखदूमपुर जहां से मांझी चुनाव लड़ रहे हैं वहां लालू ने सूबेदार दास को चुनाव मैदान में उतारा है।

मुस्लिम उम्मीदवारों की बात करें तो आरजेडी से १६ सीटों पर और जेडीयू ने सात सीटों पर मुस्लिम उम्मीदवारों को उतारा है। बाहुबली मुन्ना शुक्ला को लालगंज से जेडीयू ने प्रत्याशी बनाया है। मंत्री वैद्यनाथ साहनी का टिकट कट गया है। रामधनी सिंह का भी टिकट कटने की खबर है। ये दोनों नीतीश सरकार में मंत्री थे।

0 218

हावड़ा स्टेशन पर हावड़ा-सिकंदराबाद फलकनुमा एक्सप्रेस के एक खाली डिब्बे से कल आधी रात पाइप जैसी पांच लावारिस वस्तुएं मिलीं, जो एक पॉलिथीन की एक शीट में लिपटी हुई थीं। बम होने की आशंका के कारण बम निरोधक दस्ते ने इस पैकेट की जांच की।

जीआरपी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हावड़ा स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 17 पर जब ट्रेन कल देर रात पहुंची तो रेल कर्मियों ने डिब्बे की सफाई करते समय यह पैकेट बरामद किया। उन्होंने बताया कि बम निरोधक दस्ते ने पैकेट को ले जाकर इसकी जांच की। इस दौरान प्लेटफार्म नंबर एक के एक कोने की घेराबंदी कर दी गई थी। उन्होंने बताया कि इस दौरान विभिन्न प्लेटफार्मों पर स्थानीय ट्रेनों और लंबी दूरी की यात्रा करने वाली ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित नहीं हुई।

0 254

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज से दो देशों, आयरलैंड और अमेरिका की यात्रा के लिए रवाना हो गए हैं। अब से थोड़ी देर पहले ही पीएम मोदी विशेष विमान से अपनी यात्रा के पहले पड़ाव में आयरलैंड के लिए रवाना हो गए। पीएम दोपहर तक डबलिन पहुंचेगे। पीएम मोदी डबलिन में आयरलैंड सरकार की प्रमुख ऐंडा केनी के साथ चर्चा करेंगे।

पीएम मोदी आयरलैंड में भारतीय समुदाय को भी संबोधित करेंगे। आयरलैंड में एक दिन रुकने के बाद पीएम मोदी अमेरिका के लिए रवाना हो जाएंगे। जहां उन्हें न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र सतत विकास शिखर बैठक में हिस्सा लेना है। इसके अलावा वो अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की तरफ से आयोजित शांति के लिए शिखर बैठक में भी शिरकत करेंगे।

प्रधानमंत्री अमेरिका प्रवास के दौरान विश्व के कई नेताओं से मिलने के अलावा निवेशकों और वित्तीय कंपनियों के प्रमुख लोगों से भी भेंट करेंगे। वह 27 सितंबर को सैन जोस जाएंगे जहां वह भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे । मोदी का कहना है कि मुझे पूरा विश्वास है कि अमेरिका की मेरी यात्रा फलदायी होगी और विश्व के सबसे पुराने और सबसे बड़े लोकतंत्रों के बीच रिश्ते और गहरे होंगे। प्रधानमंत्री संयुक्त राष्ट्र की 70 वीं वषर्गांठ के ऐतिहासिक समारोह में शरीक होंगे।

पीएम मोदी ने अपनी यात्रा से पहले ट्वीट किया और कहा कि हमें उम्मीद है कि आयरलैंड के साथ जनता-से-जनता के बीच संबंध और मजबूत होंगे। और आने वाले दिनों में आर्थिक रिश्ते भी बढ़ेगे। पीएम मोदी के आयरलैंड दौरे को लेकर वहां रह रहे भारतीयों में खासा उत्साह है। वो बेसब्री से पीएम मोदी का इंतजार कर रहे हैं। गौरतलब है कि बीते 60 साल में पहली बार कोई भारतीय प्रधानमंत्री आयरलैंड के दौरे पर जा रहा है।

0 208

उत्तर प्रदेश में 2017 मे प्रस्तावित विधानसभा चुनाव के लिये जमीन तैयार करने की कवायद में जुटी कांग्रेस ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जनता को धोखा देने का आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी की लोकप्रियता का ग्राफ जल्द ही तेजी से गिरेगा।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कांग्रेस के प्रान्तीय सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने जनता से झूठे वायदे कर उन्हें धोखा दिया। जनता आने वाले चुनाव में इन्हें जमीन दिखायेगी। अब पार्टी कार्यकर्ताओं का दायित्व है कि जब वह नीचे आयें तो उनके स्थान पर कांग्रेस को लाने की कोशिश करें।

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि मोदी के व्यक्तित्व को जनता धीरे-धीरे समझ रही है। चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने हर परिवार के खाते में 15 लाख रुपये पहुंचाने का वायदा किया था। अच्छे दिन लाने का पुरजोर प्रचार किया गया था। भाजपा नेताओं ने चुनाव जीतने के बाद इसे जुमला करार दिया। अच्छे दिन तो नहीं आये उल्टे किसान प्रदेश में आत्महत्या कर रहे हैं। युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है। अवकाश प्राप्त सैनिकों की वन रैंक वन पेंशन भी अभी अस्तित्व में नहीं आयी। मोदी झूठे वायदे करने में माहिर हैं। जनता इन्हें सबक सिखायेगी।

पार्टी कार्यकर्ताओं से संगठित होने की अपील करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि जो जिस लायक है उसे वैसा ही काम दिया जाय। इस सम्बंध में उन्होंने एक प्रतिष्ठित विदेशी मोबाइल कम्पनी की कहानी सुनायी और कहा कि उस कहानी से सबक लिया जाना चाहिए तथा सभी कार्यकर्ताओं को एक दूसरे से बातचीत करते रहना चाहिए। जनता के बीच जाना चाहिए ताकि कांग्रेस एक बार फिर राज्य में नम्बर एक की पार्टी बन जाये।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस का डीएनए प्रदेशवासियों के खून में है। बस उसे जगाने की जरुरत है। कांग्रेस संगठन ही नहीं बल्कि परिवार है।

राहुल गांधी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस चौथे नम्बर की पार्टी है जबकि विचारधारा में नम्बर एक है। सभी को एकजुट होकर विचारधारा में नम्बर एक वाली पार्टी को चौथे से अव्वल नम्बर पर लाना है।

राहुल गांधी ने कहा कि उत्तर प्रदेश और जम्मू कश्मीर उनका घर है। उत्तर प्रदेश देश का दिल है। देश के दिल में कांग्रेस कमजोर है लिहाजा उसे मजबूत करना है। जिस पार्टी ने देश को मजबूत किया वही देश के दिल में कमजोर है।

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि वह उत्तर प्रदेश को पूरा समय देना चाहते हैं। यहां का संगठन जितना भी समय मांगेगा वह देंगे। इस अवसर पर कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी मधुसूदन मिस्त्री, प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री, कांग्रेस विधानमंण्डल दल के नेता प्रदीप माथुर भी मौजूद थे। इससे पहले राहुल गांधी ने मंदिर में बांके बिहारी के दर्शन किये और शीश नवाया।

0 110

दिल्ली में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। सेना के एक रिटायर्ड अफसर की पुत्री को इन दिनों खुफिया अधिकारी समझा रहे कि आतंकी संगठन आईएस में शामिल होना अच्छी बात नहीं है। सेना से रिटायर्ड अधिकारी की इस बेटी ने दिल्ली यूनिवर्सिटी कॉलेज से ग्रेजुएट किया हुआ है। ग्रेजुएट करने के बाद वह तीन साल के लिए ऑस्ट्रेलिया पढ़ने गई थी, जब वह लौट कर आई तो उसका मनो-मस्तिष्क पूरी तरह बदला हुआ था।

एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के अनुसार सेना से रिटायर्ड लेफ्टिनेंट कर्नल की 20 वर्षीय बेटी पोस्ट ग्रेजुएट अध्ययन के लिए ऑस्ट्रेलिया गई थी। जब वह वापस लौटकर आई तो उसके पिता को अपनी पुत्री की गतिविधियों पर कुछ शक हुआ। खुफिया सूत्रों के अनुसार उसके पिता ने नेशनल इंवेस्टीगेशन एजेंसी (एनआईए) को बताया। यह जानकारी मिलने के बाद एनआईए ने इंटेलीजेंस ब्यूरो से सम्पर्क किया। अब यह मामला इंटेलीजेंस ब्यूरो देख रहा है।

आईबी के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार सेना के रिटायर्ड लेफ्टिनेंट कर्नल को गलती से पुत्री के कम्प्यूटर में कुछ इंटरनेट कम्युनिकेशन मिल गए थे। उन्होंने एनआईए को बताया कि उनकी पुत्री आईएस में कथित भर्ती करने वालों के सम्पर्क में हैं और इस संगठन में शामिल होने के लिए सीरिया जाने वाली है। हाल के दिनों में भारतीय युवकों के आईएस से जुड़ने की घटनाओं में बढ़ोत्तरी हुई है।

पिछले दिनों ही आईएस से जुड़ने जा रहे 10 भारतीय युवकों को दुबई एयरपोर्ट से वापिस भेजा गया था। इन 10 में से दो हिंदू युवक भी थे। साथ ही एक महिला को भी दुबई से वापिस भारत भेजा गया था। यह महिला आईएस के लिए भर्ती का काम करती थी।

0 97

अहमदाबाद। पटेल आरक्षण मुद्दे पर अपनी आक्रामकता तेज करते हुए इस मुद्दे पर आंदोलन का नेतृत्व कर रहे हार्दिक पटेल ने कहा कि सत्तारूढ़ बीजेपी को आगामी स्थानीय निकाय चुनाव में विपरीत नतीजों का सामना करना पड़ेगा। हार्दिक ने पिछले माह अपने समुदाय के सदस्यों पर हुई पुलिस ज्यादतियों पर चुप्पी साध लेने वाले राजनीतिक नेताओं को कुएं में डालने की धमकी दी। अपनी एकता यात्रा के स्थल पर निषेधाज्ञा के उल्लंघन के कारण अपनी गिरफ्तारी के बाद हिंसा की छिटपुट घटनाओं के लिए हार्दिक ने राज्य सरकार और पुलिस पर दोष लगाया।

हार्दिक ने कहा कि यह ऐसी स्थिति है जिसमें सत्तारूढ़ दल को सत्ता से उखाड़ा जा सकता है। हमने एक बड़ा कुआं खोदा है जिसमें हम सत्तारूढ दल के नेताओं सहित अपने खिलाफ सभी राजनीतिक नेताओं को फेंक देंगे।

हार्दिक ने कहा कि इस आंदोलन के कारण सत्तारूढ़ दल को आगामी स्थानीय निकाय चुनावों में विपरीत नतीतों का सामना करना पड़ेगा। उन्हें हमारे नौ युवकों की मौत की कीमत चुकानी पड़ेगी। हार्दिक ने यह बात 25 अगस्त को पटेलों की रैली के बाद भड़की हिंसा में हुई मौतों की ओर संकेत करते हुए कही।

0 113

नई दिल्ली। यह भारतीय प्रधानमंत्री की लोकप्रियता ही है कि वह किसी भी देश में जब लोगों को संबोधित करते हैं तो वहां “मोदी-मोदी” की आवाजें गूंजने लगती है। लेकिन इस बार उनके अमरीका दौरे पर उनके समर्थन की आवाजें उनके विरोध में लगने वाले नारों में तब्दील हो सकती हैं। पटेल समुदाय इसकी पूरी तैयारी कर रहा है।

अगले हफ्ते अमरीका दौरे से पहले वहां की पटेल कम्युनिटी ने उनका विरोध किए जाने की तैयारियां शुरू कर दी हैं। योजना यह है कि लग्जरी बसों में पटेल समुदायों को न्यूयॉर्क और कैलिफोर्निया ले जाया जायेगा। इसके बाद मोदी के यहां पहुंचने पर यह लोग उनके सामने विरोध प्रदर्शन करेंगे। पटेल कम्युनिटी ने विरोध में आगे आने वाले पटेलों का पूरा खर्च उठाने की बात कही है। आपको बता दें कि बीते २५ अगस्त को अहमदाबाद में रिजर्वेशन की मांग पर प्रदर्शन करने वाले पटेलों के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई कर दी थी, जिससे पटेल समुदाय के लोग अब नाराज है।

फिलाडेलफिया में रहने वाले पटेल कम्युनिटी के बिजनेसमैन तेजस बखिया ने एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में कहा, “हमें उम्मीद है कि नरेंद्र मोदी का विरोध करने कैलिफोर्निया में 20 हजार लोग, जबकि न्यूयॉर्क में दस हजार लोग पहुंचेंगे।” वहीं चंद्रकांत पटेल ने कहा कि, “हम अपने इवेंट पर फोकस कर रहे हैं। हमें पटेल समुदाय के अलावा सभी वर्गों से पूरा समर्थन मिल रहा है। पटेल समुदाय मोदी का बहुत बड़ा समर्थक है। इस वजह से उनके द्वारा विरोध करने का सवाल ही नहीं उठता।”

0 106

कोलकाता। नेताजी सुभाष चंद्र बोस के परिवार के 50 से अधिक सदस्य अगले महीने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिलेंगे और वे बोस से जुड़ी सारी फाइलें सावर्जनिक करने की मांग करेंगे। 70 साल पहले नेताजी का रहस्यमय तरीके से लापता होना चर्चा का बिंदु बना हुआ है। नेताजी के परिवार के सदस्यों ने बताया कि वे केंद्र के पास मौजूद नेताजी से जुड़ी सारी फाइलों को सार्वजनिक करने की मांग करेंगे। साथ ही, वे जापान, रूस और चीन जैसे देशों से भी ऐसी फाइलों को जारी करने का आग्रह करेंगे जिनके साथ नेताजी संपर्क में थे।

मोदी ने अपने च्मन की बातज् के दौरान राष्ट्र को बोस परिवार से प्रस्तावित मुलाकात के बारे में बताया। पीएम मोदी ने कहा कि विभिन्न देशों से सुभाष बाबू के परिवार के ५० से अधिक सदस्य आ रहे हैं, मुझे उनका स्वागत करने में खुशी होगी। उनके लिए इसे एक महत्वपूर्ण अवसर बताते हुए मोदी ने कहा कि नेताजी के परिवार के सदस्य शायद पहली बार प्रधानमंत्री आवास में एक साथ आएंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि लेकिन मेरे लिए इससे बड़ी खुशी की बात यह है कि प्रधानमंत्री आवास में किसी भी व्यक्ति ने ऐसा मौका नहीं पाया होगा जैसा कि मैं अक्तूबर में पा रहा हूं। लेकिन मोदी ने नेताजी की फाइलों को सार्वजनिक किए जाने की उनके परिवार सहित पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मांगों का कोई जिक्र नहीं किया।
पश्चिम बंगाल सरकार ने शुक्रवार को ऐसी ६४ फाइलें सार्वजनिक की थी। मोदी ने मई में कोलकाता में नेताजी के परिवार के कुछ सदस्यों से हुई मुलाकात को याद करते हुए कहा कि मुझे उनके साथ कुछ वक्त बिताने का मौका मिला था। उस दिन यह फैसला किया गया कि सुभाष बाबू का परिवार प्रधानमंत्री आवास की यात्रा करेगा।
पीएम मोदी ने कहा कि पिछले हफ्ते मुझे इस बात की पुष्टि की गई कि सुभाष बाबू के परिवार के 50 से अधिक सदस्य प्रधानमंत्री के आवास की यात्रा करेंगे। इस बीच बोस के पोते चंद्र बोस ने कोलकाता में कहा कि उनका परिवार मोदी से रूस, जापान, चीन, अमेरिका, ब्रिटेन, सिंगापुर और मलेशिया जैसे देशों को उनके पास मौजूद नेताजी से जुड़ी सारी फाइलों को सार्वजनिक करने के लिए आग्रह करेगा।

0 419

नई दिल्ली। दिल्ली हाई कोर्ट ने डेंगू पर दिल्ली सरकार और एमसीडी से जवाब मांगा है कि डेंगू की रोकथाम के लिए क्या-क्या कदम उठाए गए हैं। हाईकोर्ट ने सरकार से ये भी पूछा है कि डेंगू की रोकथाम के लिए कितने पैसे कहां खर्च हुए। अदालत ने ये आदेश डेंगू को लेकर दो नई याचिकाओं के दाखिल होने के बाद दिया है। गौरतलबै है कि अब तक दिल्ली में डेंगू से 23 लोगों की मौत हो चुकी है।

दिल्ली हाई कोर्ट ने MCD और दिल्ली सरकार से कहा है कि वो इस बाबत हलफनामा दाखिल करें के अभी तक डंगू की रोकथाम के लिए क्या कदम उठाए हैं, हाई कोर्ट ने सरकार से पूछा डेंगू की रोकथाम के लिए कितने पैसे, कहां खर्च हुए हैं।

वहीं दिल्ली में डेंगू से मौत के मरीज का शव सौंपने में हुई देरी पर स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने सफाई दी। उन्होंने कहा कि इन प्रक्रियाओं को पूरा करने के लिए एक समय तय करना होगा। हालांकि उन्होंने फीस के लिए शव को रोकने की खबर से साफ इनकार किया। साथ ही उन्होंने एक बार फिर कहा कि सरकारी अस्पतालों में मरीजों के लिए बेड के पर्याप्त इंतजाम हैं। इतना ही नहीं सभी इलाकों में डेंगू क्लिनिक भी शुरू हो गए हैं।

0 136

नासिक। दुनियाभर में आस्था का केंद्र सिंहस्थ कुंभ नासिक में गोदावरी तट पर चल रहा है। करोड़ों लोग इस मेले में पवित्र डुबकी लगाने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों से आ रहे हैं। इतनी भारी संख्या में लोगों के आने, उन्हें नियंत्रित करने, रोगों के प्रकोप से बचाने और उनकी सुरक्षा के लिए आधुनिकतम तकनीकों की मदद ली जा रही है। इस क्रम में एक अभिनव पहल करते हुए एक ऐसा एप्लीकेशन लांच किया गया जो पूरे मेले से जुड़ी हर जानकारी मुहैया कराएगा।

6 सप्ताह तक चलने वाले इतने बड़े मेले में करोड़ों लोगों की सुरक्षा और उन पर नजर रखने के लिए आधुनिक संसाधनों से लैस एक टीम गोदावरी नदी के तट पर डेरा डाले हुई है। मानवता के सबसे बड़े धार्मिक समारोहों में से एक कुंभ मेले में आ रहे लोगों की सुरक्षा और मेले में शांति बनाए रखने के लिए टीम ने डिजिटल इनफारमेशन प्लेटफॉर्म लांच किया है।
इस अभिनव पहल से करोड़ों लोगों को न सिर्फ सहूलियत हो रही, बल्कि मेला भी बिना किसी रुकावट के निर्बाध चल रहा है। गौरतलब है कि 12 वर्ष पहले इसी पर्व में भगदड़ मचने से दर्जनों लोगों की मौत हो गई थी।
मेसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मीडिया लैब के एसोसिएट प्रोफेसर रमेश रस्कर ने बताया कि ऐसे मेले में करोड़ों लोगों की भीड़ को साइंटिफिक तरीके से नियंत्रित करने पर मंथन किया गया। इसी उद्देश्य से देशभर के उम्दा वैज्ञानिकों, समाजसेवियों और अधिकारियों की टीम ने दो वर्षों की अथक मेहनत के बाद च्कुंभाथनज् का इजाद किया, जिसकी मदद से भारी भीड़ का नियंत्रण और उसका प्रबंधन किया जा सकता है।

इसके लिए एक एंड्रॉयड एप्लीकेशन बनाया गया है, जिसे आसानी से नि:शुल्क डाउनलोड किया जा सकता है। इस एप्लीकेशन की मदद से मेले से संबंधित सभी जानकारियां, भोजन का इंतजाम, ट्रैफिक जाम, चिकित्सकीय सुविधा आदि के बारे में आसानी से जाना जा सकता है। यह पूरी जानकारी www.kumbha.org पर ऑनलाइन भी उपलब्ध है। इस एप्लीकेशन की सहायता से मेले में आने वालों को डेंगू, पीलिया समेत अन्य कई खतरनाक बीमारियों के प्रति जागरूक किया जाता है।

इस तकनीक के सहारे मेले में आने वाली भीड़ का अनुमान भी लगाया जा सकता है। साथ ही भीड़ को नियंत्रित करने और तितर-बितर करने के लिए अधिकारियों के लिए भी यह मददगार साबित हो रहा है।
जिला के अधिकारी रघुनाथ गावड़े ने बताया कि किसी एक स्थान पर भीड़ बढ़ने पर इसे नियंत्रित किया जाता है। हमने इसके लिए कई जोन बनाया है। च्कुंभाथनज् की टीम के रिसर्च में पता चला कि नहाने के लिए अधिकतर लोग दोपहर का समय चुनते हैं। शाही स्नान के दिन अधिकतर स्थानों पर जाम लगता है। सरकारी अधिकारियों ने च्कुंभाथनज् की टीम के आंकड़ों को काफी पसंद किया है।

भीड़ की संख्या का अनुमान लगाने के लिए नासिक के एक 15 वर्षीय लड़के ने बेहतरीन आविष्कार किया है। लगभग दो साल पहले कुंभाथनज् के बारे में सुनकर निलय कुलकामी 3 अन्य इंजीनियरों के साथ जुड़ गया और एक रबर का डोरमैट बना डाला। इसमें लोगों के पांव के निशान आ जाते हैं, जिससे लोगों की संख्या का अंदाजा लगाया जा सकता है। इससे जुटाए आंकड़े सरकारी अधिकारियों को भेज दिए जाते हैं। निलय कुलकामी ने बताया कि किसी गेम का प्रोग्राम बनाने से अच्छा है कि ऐसा आविष्कार किया जाए जो लोगों के काम आ सके।

Free Arcade Games by Critic.net