Friday, October 19, 2018
बिजनेस

0 199

Share Market down today in starting business

नई दिल्ली।

कारोबारी सत्र के तीसरे दिन शेयर बाजार के शुरूआती कारोबार में गिरावट देखने को मिल रही है। ऑटो, फार्मा और रियल्टी शेयरों में हुई बिकवाली के चलते बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स और निफ्टी लाल निशान पर कारोबार कर रहे है। सुबह 10 बजे BSE का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 35 अंक गिरकर 28,305 पर कारोबारा कर रहा है।

वहीं, NSE का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 5 अंक की गिरावट के साथ 8787 के स्तर पर कारोबार करने में सक्षम दिख रहा है। बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि अमेरिका में ब्याज दरें बढ़ने की आशंका के कारण घरेलू शेयर बाजारों में गिरावट आई है।

दिग्गज शेयरों का हाल
बाजार में कारोबार के इस दौरान दिग्गज शेयरों में टाटा मोटर्स, टाटा मोटर्स डीवीआर, सन फार्मा, आइडिया, अरविंदो फार्मा, डॉ रेड्डीज और एनटीपीसी 7.75-0.6 फीसदी तक गिरे हैं। हालांकि दिग्गज शेयरों में अदानी पोर्ट्स, जी एंटरटेनमेंट, बॉश, ओएनजीसी, अल्ट्राटेक सीमेंट, इंफोसिस, महिंद्रा एंड महिद्रा और आईटीसी 1.75-0.7 फीसदी तक बढ़े हैं।

टाटा मोटर्स का मुनाफा 96 फीसदी गिरा
वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में टाटा मोटर्स का मुनाफा 96.2 फीसदी घटकर 112 करोड़ रुपए रह गया है। वित्त वर्ष 2016 की तीसरी तिमाही में टाटा मोटर्स का मुनाफा 2952.7 करोड़ रुपए रहा था।

0 188

crude oil prices hike to 55 us dolar

नई दिल्ली।

भारतीय बास्केट के कच्चे तेल की अंतर्राष्ट्रीय कीमत 54.87 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल रही। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के अधीनस्‍थ पेट्रोलियम नियोजन एवं विश्‍लेषण प्रकोष्ठ के अनुसार भारतीय बास्‍केट के कच्चे तेल की अंतर्राष्‍ट्रीय कीमत 13 फरवरी, 2017 को 54.87 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल दर्ज की गई। यह 10 फरवरी, 2017 को दर्ज कीमत 54.86 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल से अधिक है।

 

रुपये के संदर्भ में भारतीय बास्केट के कच्चे तेल की कीमत 13 फरवरी, 2017 को बढ़कर 3674.49 रुपये प्रति बैरल हो गई, जबकि 10 फरवरी, 2017 को यह 3658.93 रुपये प्रति बैरल था। रुपया 13 फरवरी, 2017 को कमजोर होकर 66.97 रुपये प्रति अमेरिकी डॉलर के स्तर पर बंद हुआ, जबकि 10 फरवरी, 2017 को यह 66.94 रुपये प्रति अमेरिकी डॉलर था।

0 310

मुंबई में ब्रीच कैंडी पर स्थित लिंकन हाउस को कारोबारी सायरस पूनावाला ने करीब 750 करोड़ रुपए में खरीद लिया है। दरसल एक हफ्ते पहले ही कुमार मंगलम बिरला ने जटिया हॉउस बंगले को खरीद कर रियल एस्टेट क्षेत्र में एक रिकॉर्ड बनाया था, जो कि इस डील के बाद टूट गया है।

रियल एस्टेट क्षेत्र में पर्सनल प्रॉपर्टी को लेकर यह अबतक की सबसे बड़ी डील के रूप में देखा जा रहा है। जानकारों के मुताबिक सायरस पूनावाला ने यह बंगला पाने परिवार के साथ रहने के लिए लिया है।

लिंकन हाउस कुल 50,000 वर्ग फ़ीट क्षेत्र में बना हुआ है। इसका उपयोग अमेरिकी वाणिज्य दूतावास के रूप में होता था। वांकानेर के राजा प्रताप सिंह झाला के बंगले को 1957 में अमेरिका ने लीज पर लेकर काउंसलेट ऑफिस बनाया। अमेरिकी कॉउन्सलेट ने पहले इस बंगले की कीमत 850 करोड़ रुपए लगाई थी।

फोर्ब्स संस्था द्वारा जारी ताज़ा आंकड़ों के मुताबिक सायरस पूनावाला करीब 53,000 करोड़ रुपए प्रॉपर्टी के मालिक है। और भारत में आमिर लोगों की सूंची में इनका ८वां स्थान है, वही दुनिया भर में 208 वें सबसे अमीर व्यक्ति है।

0 253

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विश्व अर्थव्यवस्था में जारी भारी उथल पुथल के बीच भारतीय अर्थव्यवस्था को ऐसे जोखिमों से महफूज रखने के साथ ही इन विषम परिस्थितियों में भी देश के लिए कारोबारी संभावनाओं पर विचार के लिए आज आर्थिक विशेषज्ञों और उद्योगपतियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक करेंगे।

‘वैश्विक घटनाक्रम- भारत के लिए अवसर’ पर होने वाली इस बैठक में लगभग 40 प्रतिनिधियों के भाग लेने की उम्मीद है। इसमें कैबिनेट मंत्री, वरिष्ठ सरकारी अधिकारी, भारतीय रिजर्व बैंक, उद्योग संगठनों के प्रतिनिधि, शीर्ष बैंकर और आर्थिक विशेषज्ञ हिस्सा लेंगे।

बैठक में तेजी से बदलते वैश्विक आर्थिक परिदृश्य के भारतीय अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रभावों की गहन समीक्षा के साथ ही मौजूदा हालात में भारतीय हितों के संरक्षण पर भी चर्चा होने की संभावना है। चीन की आर्थिक नीतियों और अमेरिकी अर्थव्यवस्था में आ रही मजबूती के कारण वैश्विक बाजार में हाल में हुयी भारी उथल-पुथल के मद्देनजर पिछले दो महीने में प्रधानमंत्री की उद्योग संगठनों और उद्योगपतियों के साथ यह दूसरी बैठक है।

बैठक में विदेशी निवेश के रास्ते में आने वाली बाधाएं, उद्योगों को कर्ज मिलने में दिक्कत और कारोबार के लिए सहूलियतें बढाने जैसे मुद्दे भी शामिल हो सकते हैं। भूमि अधिग्रहण विधेयक और वस्तु एवं सेवा कर विधेयक के रास्ते में आ रही मुश्किलों पर भी चर्चा हो सकती है। बैठक प्रधानमंत्री के रेसकोर्स रोड स्थित सरकारी आवास पर आयोजित की गई है।

0 156

बंबई शेयर बाजार के सेंसेक्स ने अंतिम एक घंटे मंे चले बिकवाली के सिलसिले से शुरुआती लाभ गंवा दिया और यह 30 अंक के नुकसान के साथ नौ सप्ताह के निचले स्तर पर बंद हुआ। लगातार पांचवंे दिन सेंसेक्स मंे गिरावट का सिलसिला जारी रहा। पूंजी के सतत प्रवाह व एशियाई विकास बैंक (एडीबी) द्वारा भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर की चमकदार तस्वीर पेश किए जाने के बीच बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरांे वाला संेसेक्स एक समय 263 अंक चढ़कर 28,455.32 अंक के उच्चस्तर तक गया था। हालांकि कारोबार के अंतिम घंटे मंे वाहन, बैंकिंग व आईटी शेयरांे मंंे बिकवाली से बाजार मंे गिरावट आई और अंत मंे यह 30.30 अंक या 0.11 प्रतिशत के नुकसान से 28,161.72 अंक पर बंद हुआ जो इसका नौ सप्ताह का निचला स्तर है। कारोबार के दौरान एक समय यह 28,130.09 अंक के निचले स्तर तक गया। पांच सत्रांे मंे सेंसेक्स 574.66 अंक का नुकसान दर्ज कर चुका है। इसी तरह नेशनल स्टाक एक्सचंेज का निफ्टी 7.95 अंक या 0.09 अंक के नुकसान से 8,542.95 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 8,535.85 से 8,627.75 अंक के दायरे मंे रहा। पांच सत्रांे मंे निफ्टी मंे 180 अंक की गिरावट आई है। शेयर ब्रोकरांे ने कहा कि मार्च माह के डेरिवेटिव अनुबंधांे के निपटान से पहले कारोबारी धारणा प्रभावित हुई। संेसेक्स की कंपनियांे मंे टाटा मोटर्स, एचडीएफसी बैंक, इंफोसिस, एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, हिंद यूनिलीवर व हीरो मोटोकार्प मंे नुकसान रहा। टाटा मोटर्स के निदेशक मंडल की कल की बैठक से पहले कंपनी का शेयर 3.27 प्रतिशत टूट गया।सेंसेक्स की कंपनियांे मंे सबसे ज्यादा नुकसान मंे टाटा मोटर्स का शेयर ही रहा। निदेशक मंडल की बैठक मंे कंपनी के राइट इश्यू पर विचार होना है। हालांकि, एचडीएफसी, भारती एयरटेल, सन फार्मा, रिलायंस इंडस्ट्रीज, डॉ रेड्डीज लैब तथा विप्रो मंे लाभ से बाजार की गिरावट कुछ सीमित रही। इस बीच अस्थाई आंकड़ांे के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकांे ने कल शुद्ध रूप से 417.41 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे। वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकांे ने 403.91 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे। एशियाई बाजारांे मंे मिलाजुला रूख रहा। हांगकांग, जापान तथा ताइवान के बाजारांे मंे 0.21 से 0.39 प्रतिशत की गिरावट आई। वहीं चीन, दक्षिण कोरिया व सिंगापुर के बाजार 0.09 से 0.23 प्रतिशत के लाभ के साथ बंद हुए। शुरुआती कारोबार मंे यूरोपीय बाजार नीचे चल रहे थे।

निफ्टी 7.95 अंक टूट कर 8,542.95 पर बंद हुआ मार्च माह के डेरिवेटिव अनुबंधांे के निपटान से पहले कारोबारी धारणा प्रभावित हुई

0 176

सकारात्मक वैश्विक संकेतों के बीच आभूषण और फुटकर विक्रेताओं की मांग फिर से उभरने से बीते समाप्त दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने और चांदी दोनों की कीमतों में तेजी लौटी। बाजार सूत्रों ने कहा कि मौजूदा स्तर पर आभूषण और फुटकर विक्रेताओं की लिवाली उभरने तथा डॉलर में गिरावट के कारण वैकल्पिक निवेश के रूप में बहुमूल्य धातुओं की मांग बढ़ने और मजबूत वैश्विक रुख से कारोबारी धारणा मजबूत हुई। वैश्विक स्तर पर न्यूयार्क में सोना सप्ताहांत में 1,184.60 डॉलर प्रति औंस और चांदी तेजी के साथ 16.88 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुई। इसके अलावा नवरात्र त्योहार के कारण सत्र के अंतिम दौर की लिवाली उभरने से भी तेजी को समर्थन प्राप्त हुआ। हिन्दू धर्म की मान्यता के अनुसार इस मौके को ताजा खरीद करने के लिए बेहद उपयुक्त माना जाता है। राष्ट्रीय राजधानी में 99.9 और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने के भाव सप्ताह केे दौरान मंदी का रुख लिए खुले और सुस्त मांग के कारण चार माह के निम्न स्तर 26,000 रुपए प्रति 10 ग्राम तक नीचे चले गए। हालांकि, सप्ताहांत की ओर मौजूदा स्तर पर ताजा लिवाली और मजबूत वैश्विक रुख से इसमें फिर से चमक लौट आई और यह 80 रुपए की तेजी दर्शाता 26,500 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ। सोना 99.5 प्रतिशत शुद्धता की कीमत तेजी दर्शाता 26,350 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ जो पिछले सप्ताहांत 26,220 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। गिन्नी के भाव सीमित दायरे में उतार चढ़ाव के बाद 23,600 रुपए प्रति आठ ग्राम पर बंद हुए। चांदी तैयार के भाव 2,000 रुपए की जोरदार तेजी के साथ 38,000 रुपए प्रति किग्रा पर बंद हुए। जबकि चांदी साप्ताहिक डिलीवरी के भाव 2,250 रुपए की तेजी के साथ 37,780 रुपए प्रति किग्रा पर बंद हुए। दूसरी ओर चांदी सिक्कों के भाव में स्थिरता का रुख दिखाई दिया और इनके भाव लिवाल 56,000 रुपए और बिकवाल 57,000 रुपए प्रति सैकड़ा पर बंद हुए।

नई दिल्ली। सरकार के सोने की तस्करी पर लगाम लगाने के लिए उठाए गए कदमों के बावजूद पिछले चार वर्षों में तस्करी के मामले सात गुणा बढ़ गए हैं। सरकारी आंकडों के अनुसार 2011-12 में सोना तस्करी के 503 मामलों में 43.87 करोड़ रुपए मूल्य का सोना जब्त किया गया था जबिक चालू वित्तवर्ष में जनवरी माह तक तस्करी के 3412 मामले सामने आ चुके हैं। इन मामलों में 931 करोड़ 54 लाख मूल्य का सोना जब्त किया गया। इस प्रकार 2011-12 से और इस वर्ष जनवरी तक सोना तस्करी के मामलों में 6.78 गुणा और जब्त किये गये सोने मूल्य में 21 गुणा की बढ़ोतरी हो चुकी है। वर्ष 2012-13 के दौरान 900 मामलों में 104.62 करोड़ रुपए और 2013-14 में 2450 मामलों में 686. 99 करोड़ मूल्य का सोना जब्त किया गया।

0 247

संसद में शुक्रवार को महत्वपूर्ण कोयला विधेयक पारित होने से खुश केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि प्राकृतिक संसाधनों की नीलामी से अर्थव्यवस्था को गति मिलेगी और करोड़ों रोजगार अवसर सृजित होंगे। गोयल ने विशेष तौर पर तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को राज्य सभा में विधेयक पारित कराने में सहयोग के लिए धन्यवाद दिया। राज्यसभा में सत्तारूढ़ गठबंधन, राजग सदस्यों की संख्या कम है। उन्होंने कहा कि कोयला नीलामी से निवेश चक्र को गति मिलेगी और यह भारतीय अर्थव्यवस्था को और प्रतिस्पर्धी बनाएगा।

जेएसपीएल इनमें से गारे पाल्मा चार-2, गारे पाल्मा चार-3 और तारा कोयला ब्लॉक के लिए सफल बोली लगाने वाली कंपनी के रूप में उभरी जबकि भारत एल्यूमीनियम कंपनी (बाल्को) ने गारे पाल्मा चार-1 के लिए बोली लगाई ।

 

डाटाविंड कंपनी ने कम दामों पर पॉकेटसर्फर फोन 2 जी फोर और 3 जी फोर शुक्रवार को राजधानी में भी लांच कर दिए। खास बात ये है कंपनी अपने इन दोनों स्मार्टफोन के साथ एक वर्ष तक इंटरनेट की सुविधा एक वर्ष के लिए फ्री में दे रही है। इसके लिए डाटाविंड ने रिलायंस कंपनी के साथ करार भी किया है। कंपनी के सीईओ सुनीत सिंह तुली ने बताया कि कंपनी का सबसे सस्ता 3.5 इंच का पॉकेटसर्फर 2 जी 4 डुअल सिम, ईडीजीई नेटवर्क कम्पैटिबल स्मार्टफोन है, जबकि 4 इंच के पॉकेटसर्फर 3 जी 4 में डुअल सिम, डुअल कैमरा, 3 जी नेटवर्क कम्पैटिबलिटी है। दोनों स्मार्टफ ोन के माध्यम से आप वेब एक्सलरेशन की खास डाटाविंड टेक्नोलॉजी से यूबिसर्फर ब्राउजर पर बेजोड़ गति से इंटरनेट ब्राउजिंग कर पाएंगे। पॉकेटसर्फर स्मार्टफोन न केवल सामान्य फीचर फोन की तुलना में बेहद आकर्षक दाम पर उपलब्ध हैं। पांच इंच स्क्रीन के पॉकेटसर्फर 3 जी 5 स्मार्टफोन को भी अपग्रेड कर एक साल फ्री वेब ब्राउजिंग का लाभ दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि स्मार्ट फोन 3.5 इंच का स्मार्ट फोन 1999 रुपए में है। इसके अलावा चार इंच में ही 2999 रुपए का स्मार्ट फोन है, जिसमें बैक कैमरा पांच मेगापिक्सल और फ्रंट वीजीए कैमरा है। खास बात ये है कि इस फोन में 512 एमबी की रैम और फोर जीबी की रोम की सुविधा दी गई है। बताया कि हम ऐसी तकनीकी और सुविधा देने का जुनून रखते हैं जिनसे एक आम आदमी के हाथों में ताकत आ जाए ताकि वह हर मुमकिन काम बेहतर कर सके। बेहद कम दाम के स्मार्टफोन, भारत के प्रमुख नेटवर्क की मुफ्त इंटरनेट सुविधा के साथ डिजिटल इंडिया बनने का देश का सपना सच करेगा। गुरदीप सिंह, सीईओ, कंज्युमर बिजनेस, रिलायंस कम्युनिकेर्शस ने कहा डाटाविंड से भागीदारी और ग्राहकों को अपने हाई-स्पीड जीएसम नेटवर्क पर 12 माह अनलिमिटेड डाटा देना हमारे लिए बहुत खुशी की बात है।

0 115

सीबीआई ने गुरुवार को दिल्ली की एक अदालत को बताया कि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के उपाध्यक्ष (वित्त) केवी मोहनन और मुंबई की कानूनी फर्म चितले एंड एसोसिएट्स के राजेंद्र चितले दस्तावेज लीक मामले में संदिग्ध हैं। एजेंसी ने दोनों गिरफ्तार आरोपियों चार्टर्ड अकाउंटेंट खेमचंद गांधी और परेश चिमनलाल बुद्धदेव की पुलिस हिरासत की अवधि बढ़ाने का अनुरोध करते हुए सीबीआई के विशेष न्यायाधीश एससी राजन को यह जानकारी दी। गांधी और परेश चितले एंडएसोसिएट्स में भागीदार हैं। अभियोजक ने अदालत से कहा कि मोहनन और चितले का परेश और गांधी से आमना-सामना कराना जरूरी है ताकि आरोपियों के बीच वृहद षड्यंत्र का भंडाफोड़ किया जा सके। सीबीआई ने अदालत में यह भी कहा कि दस्तावेज लीक होने के मामले की जांच में पता चला है कि गोपनीय दस्तावेज देने के बदले सरकारी अधिकारियों समेत अनेक लोगों को भारी भरकम धन का भुगतान किया गया। सुनवाई के दौरान अभियोजक ने अदालत को कुछ दस्तावेज दिखाए जिनमें मामले से जुड़े धन के कथित लेनदेन का ब्योरा था। अभियोजक ने कहा कि सरकारी सेवकों को भी बड़ी राशि दी गई। एजेंसी ने कहा कि जांच के दौरान आरोपियों के बीच अनेक ई-मेल के आदान प्रदान की जांच की गई और इनमें अनेक लोगों का ब्यौरा मिला है। अभियोजक ने कहा कि जांच में पता चला है कि अनेक लोगों को भारी राशि दी गई और ऐसे लोगों के बैंक ब्यौरों की जांच की जा रही है। हम इन लोगों के नाम अभी नहीं बताना चाहते लेकिन उनकी जांच करनी होगी। हम कुछ ई-मेल की भी पड़ताल कर रहे हैं ताकि हमें पता चले कि किसे धन दिया गया। एजेंसी के अनुसार इस मामले में राष्ट्रीय हित शामिल है और इन दोनों आरोपियों से हिरासत में और अधिक पूछताछ के लिए सीबीआई को और समय देने की जरूरत है। दोनों आरोपियों के लिए उपस्थित होने वाले वकील ने सीबीआई की याचिका का विरोध करते हुए कहा कि एजेंसी ने दो दिनों की पुलिस हिरासत अवधि बढ़ाने की मांग करते हुए कोई कारण नहीं बताया है। न्यायाधीश ने दलीलें सुनने के बाद गांधी और परेश की सीबीआई हिरासत 21 मार्च तक बढ़ा दी। सुनवाई के दौरान चार आरोपी अशोक कुमार सिंह, लाला राम शर्मा, दलजीत सिंह और रामनिवास को अदालत में पेश किया गया। सीबीआई ने कहा कि उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया जाए क्योंकि उन्हें हिरासत में लेकर उनसे और पूछताछ की जरूरत नहीं है। अदालत ने इन चार आरोपियों को एक अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया। अदालत ने 17 मार्च को तीन सरकारी कर्मचारियों अशोक कुमार सिंह, लाला राम शर्मा और दलजीत सिंह तथा गांधी और परेश को गुरुवार तक की सीबीआई हिरासत में भेजा था। एजेंसी ने पहले अदालत से कहा था कि जांच के दौरान बड़ी संख्या में अनियमितता वाले दस्तावेज जब्त किए गए हैं और ये आरोपी इन्हें कथित रूप से आगे भेजते थे और गोपनीय दस्तावेज प्राप्त करते थे। अशोक कुमार सिंह वित्त मंत्रालय के विनिवेश विभाग में अवर सचिव के रूप में काम रहा था, लाला राम शर्मा आर्थिक मामलों के विभाग में सेक्शन अधिकारी था और दलजीत सिंह वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के औद्योगिक नीति एवं प्रोत्साहन विभाग में उच्च श्रेणी लिपिक था। गांधी को 12 मार्च को मुंबई से गिरफ्तार किया गया था और ट्रांजिट रिमांड पर उसे दिल्ली लाया गया था। सीबीआई ने दलजीत सिंह को जहां 16 मार्च को गिरफ्तार किया था वहीं परेश को 13 मार्च को अपने कार्यालय में गोपनीय सरकारी दस्तावेज नष्ट करते हुए गिरफ्तार किया था।

0 113

भारत ने निवेश आकर्षित करने का रास्ता बना रखा है और और अमेरिकी कंपनियां वहां निवेश के लिए आगे बढ़ने को तैयार हैं। यह बात भारत में काम करने वाली अमेरिकी कंपनियों के मंच के प्रमुख ने कही। अमेरिका भारत व्यापार परिषद (यूएसआईबीसी) के प्रमुख ने भारत में कारोबार का वातारण बेहतर बनाने की दिशा में मोदी सरकार की पहल की तरीफ करते हुए कहा भारत निवेश के लिए तैयार है और अमेरिका आगे बढ़ने के लिए उत्सुक है। इस महीने यूएसआईबीसी की कमान संभालने वाले अघी ने कहा अमेरिकी कंपनियां विशेष तौर पर बुनियादी ढांचा क्षेत्र में 1,500 अरब डालर के निवेश के मौकों के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा अपनी स्थापना के 40वें वर्ष में यूएसआईबीसी की सफलता इस बात से आंकी जाएगी कि द्विपक्षीय व्यापार में 500 अरब डालर की वृद्धि हुई। चुनौतियां हैं लेकिन मैं इसे अवसर की तरह देखता हूं। अघी ने कहा प्रधानमंत्री ने एक यात्रा शुरू की है। उम्मीदें बहुत हैं। यदि बड़े जहाज को मोड़ना हो तो समय तो लगता है। माहौल बदलने की कोशिश करें तो इसमें समय लगता है। इसमें शायद ज्यादा लंबा समय लगे।

वाशिंगटन। अमेरिका की बीमा कंपनी पे्रेमेरा ब्ल्यू क्रास ने कहा है कि उसका कंप्यूटर नेटवर्क हैक हो गया था जिससे 1.1 करोड़ लोगों से जुड़ी सूचनाएं दूसरे के हाथ लगने की आशंका है। यह दूसरा मौका है जबकि अमेरिका की इस प्रमुख स्वास्थ्य बीमा कंपनी पर सायबर हमला हुआ है। पे्रमेरा ने कहा कि उसे 29 जनवरी को पता चला कि कंपनी के कंप्यूटर नेटवर्क पर सायबर हमला हुआ है। जांच में पाया गया कि पहला हमला पांच मई 2014 को हुआ था। कंपनी ने कहा कि हो सकता है कि हैकरों को उसके सदस्यों के नाम, जन्म तिथि, सामाजिक सुरक्षा से जुड़े आंकड़े, ईमेल, बैंक खातों का ब्योरा और दावों की जानकारी मिल गई हो। प्रेमेरा ने कहा ग्राहकों और अन्य सदस्यों को मिलाकर कुल प्रभावित लोगों की संख्या 1.1 करोड़ हो सकती है। इससे छह हफ्ते पहले एंथम ब्ल्यू क्रॉस ने भी इसी तरह का खुलासा किया था जिसने कहा था कि उसके आठ करोड़ ग्राहकों से जुड़े रिकार्ड प्रभावित होने की संभावना है।

सराहना करता है अमेरिका : ल्यू वाशिंगटन। अमेरिका भारत की नई सरकार द्वारा शुरू की गई आर्थिक सुधार की प्रक्रिया से उत्साहित है लेकिन उसे अमेरिकी उद्योगजगत की चिंताओं का निराकरण करने के लिए अभी लंबा सफर तय करना है। यह बात अमेरिकी वित्तमंत्री जैक ल्यू ने कही। ल्यू ने कहा कि मैं हाल ही में भारत यात्रा पर था। वित्तमंत्रालय के अधिकारियों तथा प्रधानमंत्री से मिला और वे जिस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं उसे देखकर उत्साहित हुआ। यह न सिर्फ बाजार खोलने बल्कि अमेरिकी उद्योगों के लिए यह साफ करने की दिशा में भी है कर संबंधी मुद्दांे और अन्य मसलों को कैसे सुलझाया जाएगा। उन्होंने अमेरिका की एक संसदीय समिति के सामने कहा कि बाजूद इसके, भारत को अभी लंबा सफर तय करना है। वह समिति के अध्यक्ष और सांसद एड रॉयस के प्रश्न का जवाब दे रहे थे। रॉयस पिछले सप्ताह एक सर्वदलीय शिष्टमंडल के लेकर भारत यात्रा पर आए थे। रॉयस ने कहा कि प्रधामनंत्री मेदी के साथ हमारी बैठक अच्छी रही और वहां गतिविधियां सही दिशा में आगे बढ़ रही हैं। रॉयस चीन यात्रा पर भी गए थे, उन्होंने कहा अमेरिकी कंपनियों को चीन में समान अवसर नहीं मिल रहे हैं।

Free Arcade Games by Critic.net