Tuesday, October 16, 2018
खेल

0 56

मुंबई। आलोचनाओं से घिरी भारतीय क्रिकेट टीम पारंपरिक रूप से रवानगी से पूर्व होने वाली प्रेस कांफ्रेंस किये बिना ही आइसीसी टी-20 विश्व कप में भाग लेने के लिए शुक्रवार को बांग्लादेश रवाना हो गई। महेंद्र सिंह धौनी की अगुआई वाली टीम को एशिया कप में निराशाजनक प्रदर्शन से पहले दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड दौरे में शर्मनाक हार मिली थी। टीम ने 16 मार्च से छह अप्रैल तक खेले जाने वाली इस चैंपियनशिप के लिए रवाना होने से पहले सवालों से बचने के मद्देनजर मीडिया से मुखातिब नहीं होना ही ठीक समझा। टीम के कोच डंकन फ्लेचर रवानगी के वक्त टीम के साथ नहीं थे। पहली मर्तबा ऐसा हो रहा है जब भारतीय टीम यहां मीडिया से बातचीत किये बिना ही आइसीसी के किसी टूर्नामेंट में भाग लेने गई हो। पिछले साल धौनी और फ्लेचर ने इंग्लैंड में चैंपियंस ट्रॉफी में भाग लेने से पहले विवादों से भरी प्रेस कांफ्रेंस की थी। धौनी उस बातचीत में आइपीएल भ्रष्टाचार प्रकरण पर चुप्पी साधे रहे थे। धौनी की अनुपस्थिति में एशिया कप में टीम की कप्तानी संभालने वाले विराट कोहली ने भी बांग्लादेश में टूर्नामेंट के लिए रवाना होने से पहले प्रेस कांफ्रेंस नहीं की थी। टीम इस प्रकार है : महेंद्र सिंह धौनी (कप्तान), शिखर धवन, रोहित शर्मा, विराट कोहली, सुरेश रैना, युवराज सिंह, अजिंक्य रहाणे, रवींद्र जडेजा, आर अश्विन, भुवनेश्वर कुमार, मुहम्मद शमी, स्टुअर्ट बिन्नी, अमित मिश्रा, मोहित शर्मा और वरुण एरोन।

0 49

दुबई। भारतीय बल्लेबाजों का शनिवार को जारी ताजा आइसीसी टी-20 रैंकिंग में दबदबा बना हुआ है, जिसमें विराट कोहली सर्वश्रेष्ठ चौथे स्थान पर मौजूद हैं। विराट के बाद सुरेश रैना (पांचवें) और युवराज सिंह (छठे) बल्लेबाजों की सूची में शामिल हैं। हालांकि कोई भी भारतीय गेंदबाज शीर्ष-20 में शामिल नहीं है। श्रीलंकाई टीम 129 रेटिंग अंक के साथ नंबर एक पर काबिज है जिसके बाद का स्थान भारतीय टीम का है। 2007 का चैंपियन भारत छह रेटिंग अंक से पीछे है। शीर्ष तीन टीमों के बीच केवल आठ रेटिंग अंक का फर्क है जिसमें 2009 की विजेता पाकिस्तान 121 रेटिंग अंक से तीसरे स्थान पर है। श्रीलंकाई टीम विश्व टी-20 में अपने अभियान की शुरुआत 22 मार्च को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ करेगी जबकि भारत का सामना 21 मार्च को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से होगा। गत चैंपियन वेस्टइंडीज 110 रेटिंग अंक के साथ छठे स्थान पर है, और वह अपना अभियान 21 मार्च को भारत के खिलाफ आरंभ करेगा। टूर्नामेंट के जरिये एसोसिएट टीमों के पास भी तालिका में ऊपर पहुंचने का मौका होगा। ऑस्ट्रेलियन बल्लेबाज एरोन फिंच दो पायदान के फायदे के साथ नंबर वन बल्लेबाज बन गए हैं। न्यूजीलैंड के कप्तान ब्रेंडन मैकुलम दूसरे और इंग्लैंड के एलेक्स हेल्स तीसरे पायदान पर हैं। एसोसिएट सदस्यों के खिलाड़ियों में नीदरलैंड्स के माइकल स्वेर्ट रैंकिंग में सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं। माइकल 22वें नंबर पर विराजमान हैं। वेस्टइंडीज के गेंदबाज सुनील नरेन गेंदबाजों की लिस्ट में नंबर वन पर हैं। उन्हीं के देश के स्पिनर सैमुअल बद्री नंबर दो पर काबिज हैं। गेंदबाजों के टॉप-10 में नौ स्पिनर हैं। श्रीलंका के नुवान कुलशेखरा के तौर पर इस लिस्ट में इकलौते तेज गेंदबाज हैं। कुलशेखरा नौवें नंबर पर हैं।

0 114

खांते मांसियस्क।

खराब फॉर्म से जूझ रहे पांच बार के विश्व चैंपियन विश्वनाथन आनंद गुरुवार से शुरू हो रहे कैंडिडेट्स शतरंज टूर्नामेंट में शानदार वापसी करने उतरेंगे। इस टूर्नामेंट में शीर्ष आठ खिलाड़ी हिस्सा लेंगे, जिनमें से अगला चैलेंजर तय होगा। यहां जीतने वाला खिलाड़ी विश्व चैंपियनशिप के लिए विश्व चैंपियन नॉर्वे के मैग्नस कार्लसन को चुनौती देगा। पिछले साल चेन्नई में कार्लसन भारत के आनंद को हराकर विश्व चैंपियन बने थे।

आठ खिलाड़ियों का यह सुपर टूर्नामेंट डबल राउंड रॉबिन आधार पर खेला जाएगा, जिसमें 14 राउंड होंगे। आनंद को टूर्नामेंट में चौथी वरीयता दी गई है। उनके अलावा रूस के व्लादिमिर क्रैमनिक, दिमित्री आंद्रेकिन, पीटर स्वीडलर और सर्गी कर्जाकिन, बुल्गारिया के वेस्लीन टोपालोव व शाखरियान मामेदेरोयोव और अर्मेनिया के लेवोन आरोनियन चुनौती पेश करेंगे।

0 96

डंकन फ्लेचर का रिकॉर्ड अच्छा नहीं होने के बावजूद भारतीय क्रिकेट कोच के रूप में उनका करार शुक्रवार को एक साल के लिए बढ़ा दिया गया। इससे उनके भविष्य को लेकर लगाई जा रही अटकलों पर भी विराम लग गया। जिम्बॉब्वे के पूर्व कप्तान 64 वर्षीय फ्लेचर के अनुबंध के नवीनीकरण का फैसला यहां बीसीसीआइ की कार्यकारिणी में किया गया। उनका अनुबंध इस महीने के आखिर में समाप्त हो रहा था।

बीसीसीआइ के अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने बैठक के बाद पत्रकारों से कहा, कार्यकारिणी ने फ्लेचर का करार एक साल बढ़ाने का फैसला किया है, लेकिन अभी हमें शर्ताें पर विचार विमर्श करना है। बीसीसीआइ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, वह दो साल से टीम के साथ हैं इसलिए दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अगली बड़ी सीरीज को देखते हुए हम कोई कड़ा फैसला नहीं करना चाहते हैं। किसी नए कोच की शुरुआत दक्षिण अफ्रीका से करना जोखिम भरा होगा। उससे अच्छे परिणाम की उम्मीद करना भी अनुचित होता।

फ्लेचर के कोच रहते हुए भारत को इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलियाई दौरे में क्लीन स्वीप का शिकार होना पड़ा था। इसके बाद वह इंग्लैंड से घरेलू सीरीज भी हार गया। इससे फ्लेचर के भविष्य को लेकर कयास लगाए जा रहे थे। जब से फ्लेचर कोच बने तब से भारत ने 22 टेस्ट मैचों में से दस में हार झेली और आठ में उसे जीत मिली। विदेश में उसे केवल एक जीत दो साल पहले वेस्ट इंडीज में तब मिली थी, जबकि फ्लेचर ने कार्यकाल संभाला ही था।

इस बीच भारत ने 44 वनडे खेले और इनमें से उसने 25 जीते और 16 में उसे हार मिली। दो मैच टाई रहे, जबकि एक का परिणाम नहीं निकला। टी-20 में भारत ने 17 मैचों से नौ में जीत दर्ज की, जबकि आठ में उसे हार मिली। भारत पिछले साल एशिया कप के फाइनल में भी जगह नहीं बना सका था और आइसीसी टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल तक नहीं पहुंच सका था। फ्लेचर को भारत के सबसे सफल कोच गैरी किर्सटेन की सिफारिश पर लिया गया था। भारतीय खिलाड़ी उनकी तकनीकी रूप से गहरी सूझबूझ के कायल हैं, लेकिन जहां तक रणनीतिक कौशल का मामला है वह लगातार विफल रहे हैं।

0 111

ढाका

‘मैन ऑफ द मैच’ लसिथ मलिंगा (5/56) की घातक गेंदबाजी के बाद सलामी बल्लेबाज लाहिरू थिरिमाने (102) की शतकीय पारी की मदद से श्रीलंका ने शनिवार को गत चैंपियन पाकिस्तान को पांच विकेट से हराकर पांचवीं बार एशिया कप टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम किया। पिछले संस्करण में एक भी मैच नहीं जीत पाने वाली श्रीलंकाई टीम ने मौजूदा संस्करण में अपने सभी मैच में विजय हासिल की और सर्वाधिक बार यह खिताब जीतने के मामले में भारत के साथ आ खड़ी हुई।

टॉस जीतकर बल्लेबाजी को उतरी पाकिस्तान टीम ने फवाद आलम के नाबाद शतक (114) के अलावा मिस्बाह उल हक (65) और उमर अकमल (59) की अर्धशतकीय पारियों की मदद से निर्धारित 50 ओवर में पांच विकेट पर 260 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया।

जवाब में कुशल परेरा (42) और थिरिमाने ने 10 ओवर में 56 रन की साझेदारी करके श्रीलंकाई टीम को तेज शुरुआत दिलाई। अजमल ने 11वें ओवर की लगातार दो गेंदों पर परेरा और फॉर्म में चल रहे कुमार संगकारा (00) के विकेट निकाल कर मैच में पाकिस्तान की पकड़ मजबूत बनाने की कोशिश की। लेकिन पिछले कुछ मैचों से सस्ते में आउट हो रहे महेला जयवर्धने (75) ने थिरिमाने के साथ क्रीज पर खूंटा गाड़ दिया और टीम को जीत की ओर अग्रसर किया। दोनों के बीच 156 रन की साझेदारी हुई। आउट होने से पहले जयवर्धने ने नौ चौके और एक छक्का लगाया, जबकि थिरिमाने ने अजमल की गेंद पर बोल्ड होने से पहले 108 गेंदों का सामना करते हुए 13 चौके लगाए। श्रीलंका ने 46.2 ओवर में ही 261 रन बना लिए।

इससे पहले पाकिस्तानी टीम को मलिंगा ने शुरुआत में ही झकझोर कर रख दिया। उन्होंने अपने लगातार तीन ओवरों में एक-एक बल्लेबाज को पवेलियन भेजते हुए पांचवें ओवर तक पाकिस्तान का स्कोर तीन विकेट पर 18 रन कर दिया। मलिंगा ने पहले ओवर में सलामी बल्लेबाज शरजील खान (08) को तिषारा परेरा के हाथों कैच आउट कराया, इसके बाद अगले दो ओवरों में अहमद शहजाद (05) और मुहम्मद हफीज (03) को विकेटकीपर कुमार संगकारा के हाथों लपकवाया।

बेहद खराब शुरुआत के बाद कप्तान मिस्बाह उल हक (65) ने युवा बल्लेबाज फवाद आलम के साथ मिलकर टीम को संभाला। दोनों ने विकेट नहीं गिरने दिया, लेकिन टीम की रनगति बेहद ही धीमी पड़ गई। टीम ने सौ का आंकड़ा 31वें ओवर में जा कर छुआ। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 32.1 ओवर में 3.79 के रनरेट से 122 रन जोड़े। शुरुआती तीन विकेट लेने वाले मलिंगा ने ही मिस्बाह (98 गेंद, तीन चौके, दो छक्के) को आउट करके इस साझेदारी को तोड़ा। मिस्बाह जब आउट हुए तब टीम का स्कोर 36.4 ओवर में चार विकेट पर 140 रन था, उस वक्त पाकिस्तान का कुल स्कोर 220 से 230 तक पहुंचता नजर आ रहा था, लेकिन नए बल्लेबाज उमर अकमल (59) के मैदान पर आते ही आलम ने भी अपना गियर बदला और तेजी से रन बनाने शुरू कर दिए।

दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 13 ओवर में 8.84 के रनरेट से 115 रन जोड़कर टीम को मजबूत स्कोर तक पहुंचाया।

अपना अर्धशतक 91 गेंद में पूरा करने वाले आलम ने अगले पचास रन के लिए केवल 35 गेंदों का सामना किया। इस दौरान आलम को 92 रन के निजी स्कोर पर एक जीवनदान भी मिला जब चतुरंगा डिसिल्वा ने मिडविकेट पर उनका कैच टपका दिया। आखिरी ओवर में आउट होने से पहले अकमल ने अपनी 42 गेंद की पारी में सात चौके लगाए।

0 117

मीरपुर (ढाका)

एशिया कप 2014 के फाइनल मुकाबले में आज श्रीलंका और पाकिस्तान की टीमें खिताब के लिए आमने-सामने हैं। मैच में पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और फवाद आलम (नाबाद 114) के शानदार शतक व कप्तान मिस्बाह-उल-हक (65) और उमर अकमल (59) के शानदार अर्धशतकों के दम पर 50 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 260 रन बनाए। पाकिस्तान को पांचों झटके श्रीलंकाई तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने ही दिए। अब श्रीलंकाई टीम के सामने 261 रनों का लक्ष्य है।

पहले बल्लेबाजी करने उतरी पाकिस्तान की टीम को श्रीलंका के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने शुरुआत में जोरदार झटके दिए। मलिंगा ने शरजील खान (8) को परेरा के हाथों कैच कराया जबकि अहमद शहजाद (5) और मोहम्मद हफीज (3) को विकेट के पीछे कीपर कुमार संगाकारा के हाथों कैच कराते हुए पाकिस्तान को तीन झटके दिए। इसके बाद कुछ देर मलिंगा खिंचाव की समस्या की वजह से बाहर बैठे रहे जिस दौरान पाकिस्तान के बल्लेबाज फवाद आलम और कप्तान मिस्बाह-उल-हक ने चौथे विकेट के लिए 122 रनों की शानदार साझेदारी को अंजाम दिया। इस दौरान दोनों बल्लेबाजों ने अपने-अपने अर्धशतक भी पूरे किए। एक समय लगा कि अब ये जोड़ी पाकिस्तान का बेड़ा पार लगा देगी लेकिन 37वें ओवर में मलिंगा वापस लौटे और आते ही उन्होंने श्रीलंका और खुद को चौथी सफलता हासिल करा दी। चौथे विकेट के रूप में मलिंगा ने कप्तान मिस्बाह-उल-हक (65) को परेरा के हाथों कैच कराया और पवेलियन का रास्ता दिखाया।

इसके बाद पाकिस्तान ने फवाद आलम और उमर अकमल के दम पर जो रफ्तार पकड़ी को अंत तक कायम रही। पांचवें विकेट के लिए दोनों बल्लेबाजों ने शतकीय साझेदारी (115) को अंजाम तक पहुंचाया। इस दौरान फवाद ने जानदार शतक भी जड़ा और उमर अकमल ने धुआंधार अर्धशतक। इसके बाद मलिंगा ने ही अपने पांचवें विकेट के रूप में अकमल को भी पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। अकमल 42 गेंदों में 59 रन बनाकर प्रियंजन के हाथों कैच हुए और अंत में पाकिस्तान ने पांच विकेट के नुकसान पर 260 रनों का स्कोर खड़ा किया। फवाद 114 रन बनाकर नाबाद पवेलियन लौटे।

पाकिस्तान ने टीम में सोहेब मकसूद और अब्दुर रहमान की जगह शरजील खान और जुनैद खान को टीम में वाप स जगह दी है। वहीं, श्रीलंकाई टीम को एक बड़ा झटका लगा है, उनके स्पिनर अजंथा मेंडिस चोटिल होने के कारण इस खिताबी जंग में हिस्सा नहीं ले रहे हैं, वहीं मलिंगा की वापसी हुई है। श्रीलंका ने टूर्नामेंट के चार मैचों में सभी में जीत दर्ज की और वे अंक तालिका में शीर्ष पर रहे जबकि अंक तालिका में दूसरे नंबर पर रहने वाली पाकिस्तान की टीम ने 4 में से तीन मुकाबलों में जीत हासिल की और उन्हें श्रीलंका के खिलाफ पहले मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा था।

0 96

मीरपुर।

पाकिस्तान ने बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन से मंगलवार को बांग्लादेश पर तीन विकेट की रोमांचक जीत से एशिया कप के फाइनल में प्रवेश कियाए जहां उसका सामना शनिवार को श्रीलंका से होगा। इस जीत से भारत पूरी तरह फाइनल की दौड़ से बाहर हो गया।
टास जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश ने पाकिस्तान की लचर गेंदबाजी और खराब क्षेत्ररक्षण का पूरा फायदा उठाते हुए निर्धारित 50 ओवर में तीन विकेट पर 326 रन से वनडे में अपना सर्वश्रेष्ठ स्कोर खड़ा कियाए लेकिन पाकिस्तान ने सलामी बल्लेबाज अहमद शहजाद 12 चौके और एक छक्कोें से (103 रन) के शतक तथा फवद आलम (74), शाहिद अफरीदी (59) और मोहम्मद हफीज (52) के अर्धशतकों की मदद से एक गेंद रहते सात विकेट पर 329 रन बनाकर पांच देशों के टूर्नामेंट के फाइनल में जगह सुनिश्चित की।

पाकिस्तानी टीम ने गेंदबाजों और क्षेत्ररक्षकों के खराब प्रदर्शन की भरपाई करते हुए शानदार बल्लेबाजी के दम पर वनडे में अपने सबसे बड़े लक्ष्य का पीछा भी किया। पाकिस्तान ने इस जीत से चार अंक हासिल कियेए जिससे चार मैचो में तीन जीत से उसके कुल 13 अंक हो गये। इससे भारत की रही सही उम्मीद भी खत्म हो गयी। अब भारत का कल अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाला मैच भी बेमानी हो गया है।

अफरीदी ने भारत के खिलाफ मैच की तरह फिर टीम की नैया पार करायी उन्होंने रन आउट होने से पहले 25 गेंद में दो चौके और सात छक्कोे की मदद से 59 रन की आक्रामक पारी खेली।

0 137

न्यूयार्क।
सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इस बार बोस्टन में होने वाली मैराथन में बैग को अंदर ले जाने पर प्रतिबंध रहेगा। यह जानकारी सुरक्षा से जुड़े अधिकारियों ने दी। बताते चलें कि मैराथन के धावकों को उनके निजी सामान को ढोने के लिए बैग ले जाने की इजाजत दी जाती थी, लेकिन पिछले साल इस आयोजन के दौरान हुए घातक धमाके को देखते हुए इस पर प्रतिबंध लगाया गया है।
सिन्हुआ एजेंसी के अनुसार, बोस्टन एथलेटिक एसोसिएशन ने कहा कि इस साल धावकों को स्टार्ट और फिनिश लाइन के साथ-साथ 26.2 मील लंबे मैदान में भी बैग ले जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी। धावकों को बताया गया है कि उन्हें कंधे पर ढोने के लिए बैग की तरह किसी तरह का सामान ले जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी। गौरतलब है कि पिछले साल बोस्टन मैराथन की फिनिश लाइन पर हुए दो विस्फोट में तीन लोगों की मौत हो गई थी और 260 से अधिक लोग घायल हो गए थे।

0 109

फातुल्लाह।

एशिया कप में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने शानदार शतकीय पारी खेल कर सईद अनवर और सचिन तेंडुलकर को भी पीछे छोड़ दिया है। बुधवार को भारत ने एशिया कप टूर्नामेंट में मेजबान बांग्लादेश को एक ओवर शेष रहते 6 विकेट से पराजित कर विजयी शुरुआत की।
12वां शतक लगाया
लक्ष्य का पीछा करते हुए सैकड़ा लगाने वाले कोहली सबसे सफल बल्लेबाज बन गए हैं। बुधवार को 136 रन की पारी के साथ ही लक्ष्य का पीछा करते हुए यह विराट का 12वां शतक था। उन्होंने प्रति 6 पारियों में एक शतक लगाया है और इस मामले में वे पाकिस्तान के सईद अनवर 11 पारियों में एक, सचिन तेंडुलकर 14 पारियों में एक को पीछे छोड़ दिया है। हालांकि, लक्ष्य का पीछा करते हुए शतक लगाकर टीम को जीत दिलाने के मामले में तेंडुलकर सबसे आगे हैं, उन्होंने 14 शतक लक्ष्य का पीछा करते हुए लगाए और उन मैचों में टीम को फतह हासिल हुई, जबकि कुल 17 बार ऐसा हुआ है कि तेंडुलकर के सैकड़ा जडऩे पर टीम इंडिया को जीत हासिल हुई।
कोहली के वन-डे में 19 शतक
इस शतक के साथ ही कोहली के वन-डे में 19 शतक हो गए हैं और उन्होंने वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान ब्रायन लारा के 19 शतकों की बराबरी कर ली है।

Free Arcade Games by Critic.net