हिंडाल्‍को कोल ब्‍लॉक मामले में पूर्व PM मनमोहन सिंह और केएम बिड़ला को समन

हिंडाल्‍को कोल ब्‍लॉक मामले में पूर्व PM मनमोहन सिंह और केएम बिड़ला को समन

0 804
नई दिल्‍ली। हिंडाल्‍को कोल ब्‍लॉक मामले में पटियाला ट्रायल कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व कोयला सचिव पीसी पारेख को समन भेजा है। कोर्ट ने आदित्‍य बिड़ला ग्रुप के चेयरमैन कुमारमंगलम बिड़ला और हिंडाल्‍को के दो अधिकारियों के खिलाफ भी समन जारी किया है। इन्‍हें 8 अप्रैल को कोर्ट में पेश होने को कहा गया है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को आरोपी के तौर पर समन जारी किया गया है।
पूर्व कोयला सचिव पीसी पारेख, हिंडाल्को इंडस्ट्रीज और अन्य से जुड़े कोल ब्लॉक आवंटन घोटाला मामले में सीबीआई ने अपनी जांच पूरी कर फाइनल रिपोर्ट डिस्ट्रिक्ट कोर्ट को सौंप दी है। 11 मार्च को कोर्ट को इस रिपोर्ट पर विचार करना था।
ट्रायल कोर्ट ने बुधवार को इस मामले पर संज्ञान लेते हुए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व कोयल सचिव पीसी पारेख, उद्योगपति कुमार मंगलम बिड़ला और हिंडाल्‍को के दो अधिकारियों को भी समन जारी का 8 अप्रैल को कोर्ट में तलब किया है।
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर गोपनीयता भंग करने का आरोप है। पूर्व प्रधानमंत्री सिंह से सीबीआई पहले ही पूछताछ कर चुकी है। कोल ब्‍लॉक आवंटन के समय कोयला मंत्रालय मनमोहन सिंह के ही पास था।
गौरतलब है कि 2005 में हिंडाल्‍को को ओडिशा में तालाबिरा कोल ब्‍लॉक आवंटित किया गया था। जिसमें अनियमितता बरतने और गल‍त तरीके से ब्‍लॉक आवंटित करने का आरोप है। सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में पारेख, उद्योगपति कुमार मंगलम बिड़ला, उनकी हिंडाल्को इंडस्ट्रीज लिमिटेड और कुछ अज्ञात लोगों को नामजद किया है। उनके खिलाफ आपराधिक साजिश और भ्रष्टाचार निरोधक कानून के प्रावधानों के तहत आरोप लगाए गए हैं।
अदालत ने मामले में दाखिल जांच एजेंसी की क्लोजर रिपोर्ट को खारिज करते हुए उसे आगे की जांच का निर्देश दिया था। पिछले साल 16 दिसंबर को अदालत ने सीबीआई को इस मामले में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और प्रधानमंत्री कार्यालय के कुछ टॉप लेवल के अधिकारियों से पूछताछ करने के लिए भी कहा था।