संगकारा एवं जयवर्धने की हार के साथ वनडे से विदाई

संगकारा एवं जयवर्धने की हार के साथ वनडे से विदाई

0 113

महेला जयवर्धने और कुमार संगकारा के शानदार वनडे करियर का अंत भले ही परीकथा जैसा नहीं हुआ हो लेकिन इन दोनों अनुभवी खिलाड़ियों ने निराशा के बावजूद अपनी इस लंबी यात्रा को हंसते हुए याद किया।इन दोनों ने पहले ही विश्व कप के बाद वनडे क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी थी और यहां क्वार्टर फाइनल में श्रीलंका की दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ नौ विकेट की शिकस्त के साथ इन दोनों के करियर का अंत हुआ। आज के मैच से पहले रिकार्ड लगातार चार वनडे शतक जड़ने वाले संगकारा ने 45 रन की पारी खेली लेकिन इसके बावजूद टीम 37.2 ओवर में 133 रन पर ढेर हो गई। किसी विश्व कप में 500 से अधिक रन बनाने वाले वह छठे बल्लेबाज हैं। संगकारा ने मैच के बाद कहा कि जयवर्धने काफी निराश होगा लेकिन यह खेल का हिस्सा है, अंत परीकथा जैसा नहंी होता। आप विश्व कप जीतना चाहते हो, शीर्ष पर रहते हुए अंत करना चाहते हो लेकिन अगर ऐसा नहीं होता तो नहीं होता। इसका मतलब यह नहीं कि आप निराश होकर जाओ।

संगकारा ने श्रीलंका के लिए सर्वाधिक 45 रन बनाए। संगकारा टेस्ट क्रिकेट खेलते रहेंगे। संगकारा ने 404 वनडे मैचों में 14234 रन बनाए। उन्हांेने मौजूदा विश्व कप में सात मैचों में 541 रन बटोरे और फिलहाल वह टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं।

पहले ही टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह चुके महेला जयवर्धने ने इसके साथ अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का अंत किया जो 1997 में शुरू हुआ था। उन्होंने 448 वनडे में 12650 रन जबकि 149 टेस्ट में 11814 रन बनाए।