रोहित की फार्म का हमेशा रनों से अनुमान नहीं लगाएं : धोनी

रोहित की फार्म का हमेशा रनों से अनुमान नहीं लगाएं : धोनी

0 1858

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी विश्व कप में रोहित शर्मा की ढीली फार्म से चिंतित नहीं हैं और उन्होंने कहा वह कितने रन बना रहे हैं इसके बजाय यह देखना महत्वपूर्ण है कि वह किस अंदाज में बल्लेबाजी कर रहे हैं। रोहित ने लीग चरण के छह मैचों में 31.80 की औसत से केवल 159 रन बनाए हैं। वनडे क्रिकेट में दो दोहरे शतक लगाने वाले एकमात्र बल्लेबाज रोहित ने अधिकतर मैचों में अच्छी शुरूआत की लेकिन वह केवल दो मैचों में ही अर्धशतक जड़ पाए। उन्होंने यूएई के खिलाफ नाबाद 57 और और आयरलैंड के खिलाफ 64 रन बनाए। धोनी रोहित की खराब फार्म को लेकर परेशान नहीं हैं और उन्होंने अपने साथी के लिए सभी सकारात्मक बातें की। उन्होंने रोहित के बचाव में कहा हमें यह भी देखना चाहिए कि टूर्नामेंट में हमें कुछ अवसरों पर लक्ष्य का पीछा करना पड़ा और यदि प्रतिद्वंद्वी टीम (यूएई और वेस्टइंडीज) ने अधिक रन नहीं बनाए थे तो फिर हमारे सलामी बल्लेबाज भी बड़ा स्कोर नहीं बना सकते थे। किसी खिलाड़ी ने कितने रन बनाए इसके बजाय वह किस तरह से बल्लेबाजी कर रहा है, यह क्यों महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा यह देखना महत्वपूर्ण है कि वे किस तरह की शुरुआत कर रहे हैं। मुझे लगता है कि रोहित ने अब तक बहुत अच्छी बल्लेबाजी की है। वह काफी शांत और संयमित दिखता है और साथ ही अच्छे शाट भी लगा रहा है। यह महत्वपूर्ण है। धोनी ने कहा यह हमेशा रनों से जुड़ा नहीं होता है। हमने ऐसे बल्लेबाज देखे हैं जो वास्तव में अच्छा खेल रहे होते हैं लेकिन उन्होंने कई मैचों से रन नहीं बनाए और अचानक किसी मैच में देखते हो कि वह बड़ी पारी खेलकर वापसी करते हैं। इसलिए यह खराब फार्म का मामला नहीं है। सबसे महत्वपूर्ण क्रीज पर समय बिताना है और मुझे लगता है कि रोहित ने यह काम अच्छी तरह से किया है। जडेजा की बल्लेबाजी में फार्म में चिंता का विषय थी लेकिन जिम्बाब्वे के खिलाफ उनकी गेंदों की जमकर धुनाई हुई। इस मैच में जडेजा ने 71 रन दिए जिससे उनकी गेंदबाजी पर भी निगाह टिक गई है। कहा जडेजा की बल्लेबाजी फार्म चिंता का विषय है। उन्होंने जडेजा की खराब बल्लेबाजी के बारे में कहा हां कुछ हद तक आप कह सकते हो कि यह थोड़ा चिंता का विषय है लेकिन इसके साथ ही मैं यह भी कहूंगा कि इस संदर्भ में यदि आप रैना को लेकर चिंतित थे तो उसे बल्लेबाजी का अधिक मौका नहीं मिला था। जडेजा को भी अब तक बल्लेबाजी के बहुत अधिक मौके नहीं मिले हैं। इसके साथ ही स्लाग ओवरों में रन बनाना भी आसान नहीं होता है। धोनी ने जडेजा की गेंदबाजी के बारे में कहा उसने टुकड़ों में अच्छी गेंदबाजी की है। वह अभी सुधार कर रहा है। वह टीम का अहम हिस्सा है। अपने पिछले विश्व कप के बाद उसको तैयार करने का प्रयास किया। जडेजा टीम का नियमित हिस्सा है और उसने वास्तव में अच्छा काम किया है। वह जिस तरह से गेंदबाजी कर रहा है उससे मैं खुश हूं।