महिलाओं पर टिप्पणी कर विवादों में फंसे शरद यादव

महिलाओं पर टिप्पणी कर विवादों में फंसे शरद यादव

नई दिल्ली (एजेंसियां)। वरिष्ठ सांसद और जदयू नेता शरद यादव महिलाओं पर अपनी टिप्पणी को लेकर विवादों में घिर गए हैं। शुक्रवार को राज्य सभा में बीमा बिल पर चर्चा के दौरान शरद यादव ने बहस के बीच ही अचानक दक्षिण की महिलाओं के संबंध में आपत्तिजनक टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि दक्षिण की महिलाएं सांवली तो होती हैं, लेकिन उनकी बॉडी खूबसूरत होती है, हालांकि बाद में शरद यादव ने अपनी टिप्पणी का यह कहते हुए बचाव किया कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं कहा है। शरद यादव जब बीमा बिल पर बोलने के लिए उठे तो उन्होंने बीच में बीमा क्षेत्र में विदेशी निवेश 26 से 49 फीसदी करने के प्रस्ताव को गोरी चमड़ी को लेकर भारतीयों की सनक से जोड़ दिया। शरद यादव ने कहा कि भारतीय गोरी चमड़ी के आगे किस तरह सरेंडर करते हैं यह निर्भया डॉक्युमेंट्री बनाने वाली लेस्ली उडविन से पता चलता है. यहां तो वाइट चमड़ी वालों को तो देखकर आदमी दंग रह जाता है। मेट्रोमोनियल देखो तो उसमें लिखा है कि गोरी चमड़ी चाहिए। अरे आपका भगवान सांवला था। इसके बाद वह दक्षिण भारतीय महिलाओं की चर्चा करने लगे, उन्होंने कहा, ‘साउथ की महिला जितनी ज्यादा खूबसूरत होती है, जितना ज्यादा उसका बॉडी… जो पूरा देखने में… यानी इतना हमारे यहां नहीं होती है…वह नृत्य जानती हैं….।’ शरद की इस टिप्पणी पर जहां अधिकतर सांसद ठहाके लगा रहे थे, वहीं एक महिला सांसद ने विरोध किया।