फिर अंदरूनी कलह के भंवर में आप

फिर अंदरूनी कलह के भंवर में आप

नई दिल्ली (ब्यूरो)। राजधानी दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) के अंदर कलह रुकने का नाम नहीं ले रही है।
आप के आंतरिक लोकपाल एडमिरल रामदास ने पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र की कमी व केजरीवाल की कार्यशैली पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने इस संदर्भ में सीएम अरविंद केजरीवाल और पीएसी सदस्यों को पत्र लिखा है। रामदास का कहना है कि पार्टी में लोकतंत्र नहीं है। इसमें और दूसरी पार्टियों में फर्क नहीं है। पार्टी में गुटबाजी चरम पर है। शीर्ष नेतृत्व दो गुटों में बंट गया है। सरकार में एक भी महिला को जगह नहीं मिली है। उधर पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति पीएसी से योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण की छुट्टी तय मानी जा रही है। इसकी वजह मनीष सिसोदिया और योगेंद्र यादव के बीच अंदरूनी ई-मेल का सार्वजनिक होना और दिल्ली विधानसभा चुनाव के अंतिम दौर में केजरीवाल के खिलाफ प्रशांत भूषण की बयानबाजी को बताया जा रहा है।