गरीबों को आरक्षण देगी बसपा : मायावती

गरीबों को आरक्षण देगी बसपा : मायावती

BSP give reservation to poor peoples

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी की सरकार बनने पर गरीबों को आर्थिक आधार पर आरक्षण के साथ ही किसानों का एक लाख रुपए का कर्ज माफ होगा। भाजपा आरएसएस के एजेंडे पर काम कर रही है। यूपी में भाजपा सफल हुई तो दलितों और पिछड़ों को मिलने वाला आरक्षण समाप्त हो जाएगा। यह बातें बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सूबे की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बरेली में बसपा प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित एक जनसभा में कहीं।

 

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी से 10 माह पूर्व ही अपने चहेतों का काला धन ठिकाने लगवा दिया। भाजपा के प्रति जनता आक्रोशित है, इस बात को भाजपा भांप चुकी है। यही कारण है कि मुख्यमंत्री पद के लिए किसी का नाम पार्टी ने पेश नहीं किया।बसपा सुप्रीमो ने कहा कि सूबे में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी सरकार ने बदले की भावना से काम किया। अल्पसंख्यकों और दलितों को झूठे केसों में जेल भेज गया है। बसपा की सरकार बनने पर ऐसे लोगों की समीक्षा की जाएगी और निर्दोषों को रिहा किया जाएगा।

 

उन्होंने कहा कि सपा सरकार के कार्यकाल में आपराधिक घटनाओं में तेजी से बढ़ोतरी हुई। मथुरा, दादरी और बुलंदशहर जैसे कांड हुए। मथुरा में तो सरकारी जमीन पर कब्जे को लेकर पुलिस अधिकारी तक की जान चली गई। गरीब, मजलूम और अल्पसंख्यक वर्ग तो बहुत परेशान हुए। दंगे-फसाद से अल्पसंख्यकों को क्षति पहुंचाई गई। सपा सरकार की पारिवारिक कलह के बाद अब अल्पसंख्यकों का मोह इस पार्टी से भंग हो गया है।

 

बसपा अध्यक्ष ने कहा कि गुंडागर्दी, अराजकता और सांप्रदायिकता फैलाने वाली पार्टी के साथ कांग्रेस के गठबंधन का सीधा फायदा भाजपा को होगा। उन्होंने कहा कि यूपी में वर्तमान चुनाव सांप्रदायिकता, जातिवाद और अपराधी तत्वों को खत्म करने का है। पिछले पांच साल में सपा सरकार का एक सूत्रीय काम गुंडागर्दी कर जमीनों पर कब्जे करने और अराजकता फैलाने का रहा।