काशी में पीएम मोदी

काशी में पीएम मोदी

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में गरीबी के मुद्दे पर विपक्षी पार्टियों को घेरा। उन्होंने कांग्रेस या किसी दल का नाम लिए बगैर कटाक्ष किया कि आजादी के बाद से ही गरीबी मिटाओ का नारा दिए जाने के बावजूद गरीबी नहीं हटी। शिक्षा ही गरीबी को खत्म करने का सबसे कारगर हथियार है। मोदी ने इससे पहले कैन्ट क्षेत्र के मल्टीपरपज ग्राउन्ड पर 101 ई-रिक्शा और 301 पैडल रिक्शा बांटे।

इस अवसर पर मोदी ने कहा कि संतान को शिक्षा देकर गरीबी से जंग जीती जा सकती है। गरीबों को बच्चों को पढ़ाने की दिशा में कोई समझौता नहीं करना चाहिए। इसके लिए अगर कुछ भी कटौती करनी पड़े तो तैयार रहना चाहिए। गरीब की जिन्दगी में जिस तरह से बदलाव आना चाहिए था नहीं आया। वह इसके लिए किसी दल या सरकार को दोष नहीं देना चाहते लेकिन नए सिरे से गरीबों के व्यवसाय के लिए काम पर फोकस” करना चाहते हैं। गरीब मेहनत कर गरीबी से बाहर निकलना चाहता है। अपने बच्चों को सम्मान की जिन्दगी देना चाहता है।

प्रधानमंत्री बनने के बाद तीसरी बार अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र आए पीएम मोदी डीजल रेल कारखाना (डीरेका) मैदान पर आयोजित समारोह में कई कल्याणकारी योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इससे पहले गत 25 दिसम्बर को अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी का दौरा किया था। इस दौरान वे ट्रोमा सेंटर का उद्घाटन भी करेंगे।